Mon. Jan 30th, 2023
शेयर करें

VISHVA BICYCLE DIWAS-2022,WORLD BICYCLE DAY-2022,-3RD JUNE
3 जून: आज है विश्व साइकिल दिवस
Photo:Twitter

सन्दर्भ-युवा मामले और खेल मंत्रालय आज 3 जून, 2022 को पूरे देश में विश्व साइकिल दिवस (World Bicycle Day) का आयोजन कर रहा है।
प्रमुख तथ्य-आजादी का अमृत महोत्सव-भारत@75 के समारोह के एक हिस्से के रूप में इसका आयोजन हो रहा है।
:युवा मामलों का विभाग अपने दो अग्रणी युवा संगठनों यानी नेहरू युवा केंद्र संगठन (NYKS) और राष्ट्रीय सेवा योजना (NSS) की सहायता से एक साथ चार गतिविधियों का आयोजन कर रहा है-
1-दिल्ली में विश्व साइकिल दिवस का शुभारंभ।
2-35 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की राजधानियों।
3-देश भर के 75 प्रतिष्ठित स्थानों में।
4-देश के सभी ब्लॉकों में साइकिल रैलियों का आयोजन।
:केंद्रीय युवा मामले और खेलमंत्री श्री अनुराग ठाकुर इस अवसर पर दिल्ली के मेजर ध्यानचंद स्टेडियम से राष्ट्रव्यापी कार्यक्रमों का शुभारंभ करेंगे,जिसके दौरान वे 750 युवा साइकिल चालकों के साथ 7.5 किमी की दूरी साइकिल चलाकर तय करेंगे।
:विश्व साइकिल दिवस के अवसर पर पूरे देश में साइकिल रैलियों का आयोजन किया जाएगा।
:रैलियों के माध्यम से एक ही दिन यानी 3 जून, 2022 को 1.29 लाख युवा साइकिल चालकों द्वारा 9.68 लाख किलोमीटर से अधिक दूरी तय की जाएगी।
:इन रैलियों का उद्देश्य लोगों को शारीरिक फिटनेस गतिविधियों के लिए अपने दैनिक जीवन में साइकिल चलाने के लिए प्रोत्साहित और प्रेरित करना तथा मोटापे,आलस्य,तनाव,चिंता जैसी बीमारियों से मुक्ति दिलाना है।
:इस आयोजन के द्वारा नागरिकों को अपने जीवन “फिटनेस की खुराक आधा घंटा रोज” में कम से कम 30 मिनट शारीरिक गतिविधियों को शामिल करने का संकल्प लेने का आह्वान किया जाएगा।
:प्रमुख गतिविधियों में वातावरण निर्माण और संदेश प्रवर्धन, फिटनेस पर जागरूकता और फ्लैग-ऑफ साइकिल रैलियां शामिल हैं।
:लोग और विशेष रूप से युवा #साइकिलिंग4इंडिया (#Cycling4India)और #विश्व साइकिल दिवस2022 (#worldbicycleday2022) के साथ अपने सोशल मीडिया चैनलों पर साइकिल रैलियों का प्रचार कर सकते हैं।

विश्व साइकिल दिवस:

:अप्रैल 2018 में, संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNO) ने 3 जून को अंतर्राष्ट्रीय विश्व साइकिल दिवस के रूप में घोषित किया।
:विश्व साइकिल दिवस का संकल्प “साइकिल की विशिष्टता,दीर्घायु और बहुमुखी प्रतिभा को मान्यता देता है,जो दो शताब्दियों से उपयोग में है,और यह परिवहन का एक सरल,किफायती,विश्वसनीय,स्वच्छ और पर्यावरण के अनुकूल टिकाऊ साधन है।
:प्रोफेसर लेस्ज़ेक सिबिल्स्की ने विश्व साइकिल दिवस के लिए संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को बढ़ावा देने के लिए अपने समाजशास्त्र वर्ग के साथ एक जमीनी अभियान का नेतृत्व किया।
:इनके इस प्रस्ताव को तुर्कमेनिस्तान और 56 अन्य देशों का समर्थन प्राप्त हुआ।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *