सेना में पहली महिला लड़ाकू विमानवाहक (Aviator)

शेयर करें

ABHILASHA BARAK BANI PAHALI ARMY VIMANWAHAK-COMBAT AVIATOR
सेना में पहली महिला लड़ाकू विमानवाहक (Aviator)

सन्दर्भ-25 मई 2022 को कैप्टन अभिलाषा बराक (Abhilasha Barak) भारतीय सेना में पहली महिला लड़ाकू विमानवाहक (Combat Aviator) बनीं
प्रमुख तथ्य-नासिक में कॉम्बैट आर्मी एविएशन ट्रेनिंग स्कूल में आयोजित एक समारोह के दौरान आर्मी एविएशन के महानिदेशक द्वारा उन्हें 36 सेना पायलटों के साथ प्रतिष्ठित ‘विंग्स‘ से सम्मानित किया गया है।
:कैप्टन बराक कॉम्बैट आर्मी एविएशन कोर्स के सफल समापन के बाद कॉम्बैट एविएटर के रूप में आर्मी एविएशन कॉर्प्स में शामिल होने वाली पहली महिला अधिकारी बनीं।
:वह हरियाणा की रहने वाली हैं और उन्हें सितंबर 2018 में आर्मी एयर डिफेंस कोर में शामिल किया गया था,लड़ाकू विमानवाहक कर्नल एस ओम सिंह (सेवानिवृत्त) की बेटी हैं।
:आर्मी एविएशन कॉर्प्स सेना का एक घटक है जिसका गठन नवंबर 1986 में किया गया था।
:कोर का नेतृत्व एक लेफ्टिनेंट जनरल रैंक के अधिकारी द्वारा किया जाता है जिसे सेना विमानन के महानिदेशक के रूप में जाना जाता है।
:’स्विफ्ट एंड श्योर’ के आदर्श वाक्य के साथ, भारतीय सेना की सबसे युवा कोर बल गुणक की अपनी भूमिका को आगे बढ़ाने के लिए युद्ध के मैदान में अपने सामरिक महत्व में और वृद्धि करने के लिए तैयार है।
:2020 में, नौसेना ने डोर्नियर समुद्री विमान पर महिला पायलटों के अपने पहले बैच को तैनात करने की घोषणा की।
:2019 में सेना ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए महिलाओं को सैन्य पुलिस में शामिल करने की प्रक्रिया शुरू की।
:सैन्य पुलिस की भूमिका में छावनियों और सेना प्रतिष्ठानों की पुलिसिंग, सैनिकों द्वारा नियमों और विनियमों के उल्लंघन को रोकना और शांति और युद्ध के दौरान सैनिकों की आवाजाही के साथ-साथ रसद को बनाए रखना शामिल है।


शेयर करें

Leave a Comment