गुजरात ने लांच किया सिनेमाई पर्यटन नीति-2022

शेयर करें

गुजरात ने लांच किया सिनेमाई पर्यटन नीति- 2022
सिनेमाई पर्यटन नीति- 2022
Photo:Twitter

सन्दर्भ:

:गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने राज्य में फिल्म उद्योग के लिए एक ईकोसिस्टम को बढ़ावा देने और उसे विकसित करने तथा पर्यटन अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करने के लिए शनिवार को राज्य की पहली सिनेमाई पर्यटन नीति-2022 (Cinematic Tourism Policy-2022) की लॉन्च की।

इस नीति का उद्देश्य है:

:निवेश को आकर्षित करना, फिल्म निर्माण के लिए बुनियादी ढांचा विकसित करना और फिल्म निर्माण में युवाओं के लिए रोजगार के अवसर और रोजगार क्षमता को बढ़ावा देना।

सिनेमाई पर्यटन नीति-2022 के बारे में:

:लांच के दौरान फिल्म अभिनेता अजय देवगन सहित कुछ निवेशकों ने गुजरात के पर्यटन विभाग के साथ कुल 1022 करोड़ रुपए के चार एमओयू पर हस्ताक्षर किए ताकि गुजरात में फिल्म मेकिंग, स्टूडियो इन्फ्रास्ट्रक्चर, एक्टिंग स्कूल सहित विभिन्न क्षेत्रों में निवेश के लिए।
:इसके लिए प्रशासनिक प्रक्रियाओं को सरल बनाने और सार्वजनिक-निजी भागीदारी के माध्यम से फिल्म निर्माण से संबंधित बुनियादी ढांचे के विकास के लिए एक ईकोसिस्टम विकसित करने का प्रावधान किया गया है।
:सभी भाषओं की फीचर फिल्मों, डॉक्यूमेंट्री, वेब सीरीज को तय मानदंडों पर खरा उतरने के बाद निर्माण लागत या अधिकतम खर्च सीमा के 25 फीसदी हिस्से पर वित्तीय प्रोत्साहन राज्य सरकार प्रदान करेगी।
:इसके अतिरिक्त राज्य सरकार 500 करोड़ रुपये तक के निवेश के लिए योग्य निवेश का 15% और फिल्म बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 500 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश के लिए 20% का वित्तीय प्रोत्साहन भी देगी।
:निवेश को और अधिक बढ़ावा देने हेतु सरकार अधिकारियों को भुगतान की गई रजिस्ट्रेशन फीस और स्टांप शुल्क की 100% प्रतिपूर्ति देगी,और जरूरत पड़ने पर पट्टे पर भूमि भी उपलब्ध कराई जाएगी।
:500 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश मूल्य और विशाल आयोजनों वाली परियोजनाओं को मंजूरी देने और नीति की समीक्षा तथा विभिन्न विभागों के साथ समन्वय करने हेतु मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में एक राज्य स्तरीय अधिकार प्राप्त समिति (SLEC) का गठन किया जाएगा।
:जबकि 100 से 500 करोड़ रुपये तक के निवेश वाली परियोजनाओं को मंजूरी देने के लिए राज्य पर्यटन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव के तहत सामग्री और गुणवत्ता के लिए एक समिति और एक राज्य स्तरीय कार्यान्वयन समिति भी होगी।
:बुकिंग,अनुमति और निकासी की प्रक्रिया का समन्वय गुजरात पर्यटन निगम लिमिटेड (TCGL) के फिल्म सुविधा प्रकोष्ठ के द्वारा किया जाएगा।
:नीति के कार्यान्वयन के लिए एक नोडल एजेंसी के रूप में पर्यटन आयुक्तालय कार्य करेगा,जो फीचर फिल्मों, डॉक्यूमेंट्री फिल्मों, वेब सीरीज, टीवी धारावाहिकों, मेगा फिल्म कार्यक्रमों और अंतिम बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए लागू होगी।


शेयर करें

Leave a Comment