Fri. Dec 2nd, 2022
शेयर करें

NISAR-NASA-ISRO Synthetic Aperture Radar KA Payload Integration Pura
NISAR पेलोड एकीकरण ( Payload Integration)पूरा
Photo:Social Media

सन्दर्भ-नासा ने 1 जून 2022 को कहा कि नासा-इसरो सिंथेटिक एपर्चर रडार (NISAR) मिशन का पेलोड एकीकरण (Payload Integration) अमेरिका में पूरा हो गया है और उपग्रह के साथ एकीकरण के परीक्षण के बाद और अंततः प्रक्षेपण वाहन के साथ इसे भारत भेज दिए जाने की उम्मीद है।
प्रमुख तथ्य-:निसार इसरो और अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के बीच एक संयुक्त पृथ्वी-अवलोकन मिशन (Joint earth-observation mission) है।
:महत्वाकांक्षी संयुक्त अंतरिक्ष परियोजना निसार का रडार पेलोड फरवरी 2023 तक भारत आने वाला है।
:NISAR का उपयोग ध्रुवीय क्रायोस्फीयर और हिंद महासागर क्षेत्र सहित सभी भूमि द्रव्यमान पर वैश्विक अवलोकन के लिए किया जाएगा।
:यह एक डुअल-बैंड (L-बैंड और S-बैंड) रडार इमेजिंग मिशन है, जिसमें भूमि, वनस्पति और क्रायोस्फीयर में मामूली बदलावों का निरीक्षण करने के लिए ऑपरेशन के पूर्ण पोलारिमेट्रिक और इंटरफेरोमेट्रिक मोड की क्षमता है।
:नासा और बेंगलुरु मुख्यालय वाले इसरो ने 30 सितंबर 2014 को NISAR पर सहयोग करने और लॉन्च करने के लिए एक साझेदारी पर हस्ताक्षर किए।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published.