INS वलसुरा को प्रेसिडेंटस कलर प्रदान किया गया

शेयर करें

INS VALSURA-President's Colour
INS वलसुरा को प्रेसिडेंटस कलर

संदर्भ-राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने 25 मार्च 2022 को “INS वलसुरा” को प्रतिष्ठित “प्रेसिडेंटस कलर” यानी “राष्ट्रपति निशान” प्रदान किया।
प्रमुख तथ्य:निशान अधिकारी,अपनी यूनिट द्वारा राष्ट्रपति निशान प्राप्त किया तथा राष्ट्रपति के लिए 150 पुरुषों की गार्ड ऑफ़ ऑनर परेड प्रस्तुत की।
:राष्ट्रपति निशान शांति और युद्ध,दोनों समय में राष्ट्र को प्रदान की गई असाधारण सेवा के सम्मान में किसी सैन्य इकाई को प्रदान किया जाता है।
:भारतीय नौसेना पहली भारतीय सशस्त्र सेना है जिसे डॉ. राजेंद्र प्रसाद द्वारा 27 मई 1951 को “राष्ट्रपति निशान” से सम्मानित किया गया था।
:INS वलसुरा की विरासत 1942 जितनी पुरानी है,जिसे भारत के गणतंत्र बनने के बाद,इस यूनिट का नाम बदलकर 01 जुलाई 1950 को आईएनएस वलसुरा कर दिया गया।
:इसके बाद INS वलसुरा ने स्वयं को पेशेवर तकनीकी प्रशिक्षण के प्रतिक के रूप में बदला है तथा नौसेना के आधुनिकीकरण योजनाओ के साथ तेजी से विकसित हुआ है।
:ये यूनिट प्रशिक्षण ढांचे के प्रगतिशील संवर्धन के जरिए समकालीन और विशिष्ट प्रौद्योगिकियों पर गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण प्रदान करती है।
:आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस,बिग डेटा और मीडियम वोल्टेज लैब की स्थापना,कर प्रशिक्षण में समकालीन उत्कृष्ट तकनीक का प्रयोग किया है।
:ये प्रतिष्ठान एक वर्ष में 262 से अधिक पाठ्यक्रम संचालित करता है और 750 से अधिक अधिकारियों व 4200 नाविकों को वार्षिक प्रशिक्षण प्रदान करता है।
:INS वलसुरा हमारी मित्रवत विदेशी नौसेनाओं के लिए भी पसंदीदा प्रशिक्षण गंतव्य के रूप में उभरा है।
:इस अवसर की याद में माननीय राष्ट्रपति द्वारा एक विशेष “डाक कवर” भी जारी किया गया।


शेयर करें

Leave a Comment