Fri. Dec 2nd, 2022
शेयर करें

CyTrain सेतु
CyTrain सेतु
Photo@PIB

सन्दर्भ:

:राष्ट्रीय साइबर क्राइम प्रशिक्षण केंद्र अर्थात CyTrain सेतु के वर्चुअल कार्यक्रम -2022 में केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने भाग लिया।

CyTrain सेतु के बारें में:

:इसका उद्देश्य क्षमता निर्माण है जो साइबर क्राइम, प्रभाव नियंत्रण और जांच से निपटने पर केंद्रित है।
:इलेक्ट्रॉनिकी और आईटी मंत्रालय (MeitY) ने NEGD के माध्यम से ‘साइबर कानून, अपराध की जांच और डिजिटल फॉरेंसिक में ऑनलाइन पीजी डिप्लोमा’ कार्यक्रम की पहल की है।
:9 महीने का यह प्रोग्राम राष्ट्रीय विधि संस्थान विश्वविद्यालय (NLIU) भोपाल के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है।
:इसका पहला बैच 23 नवंबर 2020 को कई राज्य और केंद्र सरकार के संस्थानों के कुल 500 से ज्यादा प्रतिभागियों के साथ शुरू किया गया था।
:CyTrain पाठ्यक्रम के मानकीकरण पर ध्यान केंद्रित करता हैं।
:इसमें जज, पुलिस अधिकारी, जीएसटी/राजस्व अधिकारी, कानून प्रवर्तन एजेंसियों के अधिकारी और अन्य शामिल हो सकते है।
:ऑनलाइन पीजी डिप्लोमा कार्यक्रम के दूसरे बैच का शुभारंभ और पहले बैच के प्रतिभागियों को पीजी डिप्लोमा प्रमाण पत्रों का डिजिटल वितरण 5 सितंबर 2022 को एमईआईटीवाई में हुआ।
:भारतीय कानूनों के अनुपालन में साइबर अपराध की जांच के लिए पुलिस अधिकारियों,सहित इससे जुड़े अन्य अधिकारियों को आधुनिक डिजिटल फॉरेंसिंक कौशल से लैस करना।
: इसमें ई-लर्निंग सामग्रियां,एनएलयू दिल्ली में स्थापित अत्याधुनिक साइबर फॉरेंसिक लैब में प्रशिक्षण,एक्सपर्ट से संवाद और व्यवस्थित तरीके से सीखने की सुविधा दी जाती है।
:यह कार्यक्रम ‘मिशन कर्मयोगी’ का एक हिस्सा है, जिसका उद्देश्य सरकारी अधिकारियों का योग्यता के हिसाब से क्षमता निर्माण करना है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published.