Ant Chutney (Kai Chutney) के लिए मांगा GI टैग

शेयर करें

Ant Chutney (Kai Chutney) Ke Liye Manga GI Tag
Ant Chutney (Kai Chutney) के लिए मांगा GI टैग

सन्दर्भ:

: मयूरभंज के सुपरफूड Ant Chutney (Kai Chutney) चींटी की चटनी (काई की चटनी) के लिए मांगा जीआई (GI) टैग

Ant Chutney (Kai Chutney) के बारें में:

:बुनकर चींटियाँ, जिन्हें वैज्ञानिक रूप से ओकोफिला स्मार्गडीना कहा जाता है, पूरे वर्ष मयूरभंज में बहुतायत से पाई जाती हैं।
:वे मेजबान पेड़ों की पत्तियों से घोंसले का निर्माण करते हैं।
:इन्हें कच्चा या मसालों के साथ मिलाकर खाया जाता है,Ant Chutney (Kai Chutney) कहा जाता है।

:मूल्यवान प्रोटीन, कैल्शियम, जिंक, विटामिन बी-12, आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सोडियम, कॉपर, फाइबर और 18 अमीनो एसिड से भरपूर यह नमकीन खाद्य पदार्थ प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने और बीमारियों को दूर रखने के लिए जाना जाता है।

भौगोलिक संकेत (GI) टैग के बारें में:

:यह अपनी विशेष गुणवत्ता या प्रतिष्ठित विशेषताओं के संबंध में सदियों से एक अद्वितीय भौगोलिक उत्पत्ति और विकास वाले उत्पादों के लिए एक प्रतीक चिन्ह है।
:यह प्रामाणिकता का प्रतीक है और यह सुनिश्चित करता है कि पंजीकृत अधिकृत उपयोगकर्ता या कम से कम भौगोलिक क्षेत्र के अंदर रहने वाले लोगों को लोकप्रिय उत्पाद नामों का उपयोग करने की अनुमति है।
:भारत में जीआई टैग भौगोलिक संकेतक (पंजीकरण और संरक्षण) अधिनियम, 1999 द्वारा शासित है।
:यह भौगोलिक संकेत रजिस्ट्री (चेन्नई) द्वारा जारी किया जाता है।

GI टैग से फायदा क्या है:

:यह भारतीय भौगोलिक संकेतों को कानूनी सुरक्षा प्रदान करता है और इस प्रकार दूसरों द्वारा पंजीकृत जीआई के अनधिकृत उपयोग को रोकता है।
:यह भौगोलिक क्षेत्र में उत्पादित वस्तुओं के उत्पादकों की आर्थिक समृद्धि को बढ़ावा देता है।
:भारत में जीआई सुरक्षा से अन्य देशों में उत्पाद की पहचान होती है जिससे निर्यात को बढ़ावा मिलता है।


शेयर करें

Leave a Comment