Mon. Mar 27th, 2023
23वें राष्ट्रमंडल विधि सम्मेलन
शेयर करें

सन्दर्भ:

: 23वें राष्ट्रमंडल विधि सम्मेलन का शुभारंभ गोवा में।

इसका उद्देश्य है;

: यह सुनिश्चित करना है कि भ्रष्टाचार को कम से कम किया जाए और समाप्त कर दिया जाए और निर्णय लेते समय समाज के सबसे कमजोर लोगों की राय को भी ध्‍यान में रखा जाए।

23वें राष्ट्रमंडल विधि सम्मेलन के बारें में:

: इस पांच दिनी समेल्लन का आयोजन 5-9 मार्च, 2023 तक किया जाएगा
: इस सम्मेलन में 52 देशों के 500 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।
: सुशासन को बढ़ावा देने हेतु ‘कानून के शासन’ की अवधारणा की अहम भूमिका है।
: इस सम्मेलन के महत्व यह है कि अपेक्षित परिणाम प्राप्त करने के लिए कानून को ऐसा होना चाहिए जो आम आदमी को आसानी से समझ में आ सके।
: सरकार ने अप्रचलित एवं पुरातन कानूनों को निरस्त करने के लिए बड़ी कवायद की है और पिछले 8 वर्षों में 1486 ऐसे कानूनों को कानून की किताब से हटा दिया गया है।
: सरकार ने भारतीय न्यायपालिका को पूरी तरह से पेपरलेस या कागज रहित बनाने के उद्देश्य से ‘ई-कोर्ट्स’ के तीसरे चरण की शुरुआत की है।
: लगभग 13,000 अनुपालन बोझ को सरल बना दिया गया है, जबकि 1,200 से भी अधिक प्रक्रियाओं का डिजिटलीकरण कर दिया गया है।
: न्याय व्यवस्था या प्रक्रिया में आम लोगों की कठिनाइयों को कम करने हेतु उठाए गए विभिन्न कदमों जैसे कि वर्चुअल कोर्ट, ई-सेवा केंद्र और उच्च न्यायालयों में स्थित सूचना कियोस्क जैसी सेवाएं उपलब्ध कराई गई है।
: वकीलों के लिए अब अपनी सुविधा के अनुसार 24×7 अपना मामला या याचिका दाखिल करना संभव हो गया है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *