Mon. Jan 30th, 2023
13वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस
शेयर करें

सन्दर्भ:

: भारत निर्वाचन आयोग 25 जनवरी 2023 को 13वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस (NVD- National Voting Day) मना रहा है।

इस वर्ष की थीम है:

:वोटिंग बेमिसाल है, मैं अवश्य वोट देता हूं” (Nothing Like Voting, I Vote for Sure)

इसका मुख्य उद्देश्य है:

: नागरिकों में चुनावी जागरूकता पैदा करना और उन्हें चुनावी प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना।

13वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस से जुड़े प्रमुख तथ्य:

: 2011 से ही भारत के निर्वाचन आयोग के स्थापना दिवस, यानी 25 जनवरी 1950 को चिन्हित करने के लिए पूरे देश में हर वर्ष 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है।
: यह थीम या विषय मतदाताओं को समर्पित है जो वोट की शक्ति के माध्यम से चुनाव प्रक्रिया में भागीदारी के प्रति व्यक्ति की भावना और आकांक्षा को व्यक्त करता है।
: देश के मतदाताओं को समर्पित, राष्ट्रीय मतदाता दिवस का इस्तेमाल मतदाताओं, खासकर नए-नए पात्र युवा मतदाताओं के नामांकन की सुविधा के लिए भी किया जाता है।
: देश भर में आयोजित NVD समारोहों में नए मतदाताओं का अभिनंदन किया जाता है और उन्हें अपना मतदाता फोटो पहचान पत्र (EPIC) सौंपा जाता है
: NVD को राष्ट्रीय, राज्य, जिला, निर्वाचन क्षेत्र और मतदान केंद्र स्तरों पर मनाया जाता है, जो इसे देश के सबसे बड़े समारोहों में से एक बनाता है।
: निर्वाचन आयोग द्वारा नई दिल्ली में आयोजित किए जा रहे इस राष्ट्रीय समारोह में राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु मुख्य अतिथि होंगी।
: माननीय राष्ट्रपति वर्ष 2022 के राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करेंगी
: जिला और राज्य स्तर के अधिकारियों को 2022 के दौरान चुनाव के संचालन में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए सर्वश्रेष्ठ चुनावी प्रथाओं के राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।
: इनमें शामिल क्षेत्र है आईटी पहल, सुरक्षा प्रबंधन, चुनाव प्रबंधन, सुलभ चुनाव, मतदाता सूची और मतदाता जागरूकता तथा आउटरीच में योगदान।
: राष्ट्रीय पुरस्कार महत्वपूर्ण हितधारकों जैसे कि सरकारी विभागों और मीडिया संगठनों को मतदाता जागरूकता के लिए उनके बहुमूल्य योगदान के लिए भी दिए जाएंगे।
: राष्ट्रपति को ECI प्रकाशन ‘इलेक्टिंग द फर्स्ट प्रेसिडेंट- एन इलस्ट्रेटेड क्रॉनिकल ऑफ इंडियाज प्रेसिडेंशियल इलेक्शन‘ की पहली प्रति भेंट की जाएगी।
: ये पिछले 16 राष्ट्रपति चुनावों की टाइमलाइन के माध्यम से राष्ट्रपति चुनाव प्रणाली और संबद्ध संवैधानिक प्रावधानों की बारीकियों पर प्रकाश डालती है।
: सुभाष घई फाउंडेशन के सहयोग से ECI द्वारा निर्मित एक ईसीआई गीत“मैं भारत हूं – हम भारत के मतदाता हैं” की भी स्क्रीनिंग की जाएगी।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *