11वीं कृषि जनगणना 2021-22 का शुभारंभ

शेयर करें

11वीं कृषि जनगणना 2021-22 का शुभारंभ
11वीं कृषि जनगणना 2021-22 का शुभारंभ
Photo:Twitter

सन्दर्भ:

:कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 28 जुलाई 2022 को परिचालन जोत सहित विभिन्न मापदंडों पर डेटा एकत्र करने के लिए 11वीं कृषि जनगणना 2021-2011 (11th agricultural census 2021-22) शुरू की

11वीं कृषि जनगणनाप्रमुख तथ्य:

:पहली बार स्मार्टफोन और टैबलेट के जरिए डेटा कलेक्ट किया जाएगा।
:11वीं कृषि जनगणना (2021-22) का फील्डवर्क अगस्त 2022 में शुरू होगा।
:कृषि जनगणना हर 5 साल में की जाती है, जो अब कोरोना महामारी के कारण देरी के बाद की जा रही है।
:मंत्रालय 1970-71 से कृषि जनगणना योजना लागू कर रहा है।
:जनगणना का दसवां संस्करण संदर्भ वर्ष 2015-16 के साथ आयोजित किया गया था।
:कृषि जनगणना विभिन्न मापदंडों पर जानकारी का मुख्य स्रोत है, जैसे परिचालन जोतों की संख्या और क्षेत्र, उनका आकार, वर्ग-वार वितरण, भूमि उपयोग, किरायेदारी और फसल पैटर्न इत्यादि।
:अधिकांश राज्यों ने अपने भूमि अभिलेखों और सर्वेक्षणों को डिजिटल कर दिया है, जिससे कृषि जनगणना के आंकड़ों के संग्रह में और तेजी आएगी।
:डिजीटल भूमि अभिलेखों के उपयोग और डेटा संग्रह के लिए मोबाइल ऐप के उपयोग से देश में परिचालन जोतों का एक डेटाबेस तैयार किया जा सकेगा।
:इस अवसर पर, मंत्री ने राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के उपयोग के लिए ‘जनगणना के लिए संचालन संबंधी दिशानिर्देशों पर हैंडबुक’ का विमोचन किया और ‘डेटा संग्रह पोर्टल/ऐप’ लॉन्च किया।


शेयर करें

Leave a Comment