Fri. Feb 3rd, 2023
शेयर करें

Stockholm Me Sankranti Varta-Bharat aur Sweedan
स्टॉकहोम में उद्योग संक्रांति वार्ता की मेजबानी
Photo:PIB

सन्दर्भ-भारत और स्वीडन ने अपनी संयुक्त पहल यानी लीडरशिप फॉर इंडस्ट्री ट्रांजिशन/Leadership for Industry Transition (LeadIT) के एक हिस्से के रूप में आज स्टॉकहोम (Stockholm) में उद्योग संक्रांति वार्ता (Transition Dialogue) की मेजबानी की।
प्रमुख तथ्य-:यह वार्ता जो 2 और 3 जून 2022 को हो रहा है और इसने COP 27 के लिए एजेंडा निर्धारित किया है।
:लीडआईटी पहल उन क्षेत्रों पर विशेष ध्यान देती है जो वैश्विक जलवायु कार्य में प्रमुख हितधारक हैं और जिन्हें विशिष्ट हस्तक्षेप की आवश्यकता है।
:इस उच्च स्तरीय संवाद ने संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन ‘स्टॉकहोम + 50’: सभी की समृद्धि के लिए एक स्वस्थ धरती, हमारी जिम्मेदारी, हमारा अवसर’ में योगदान दिया है।
:इस कार्यक्रम की शुरुआत भारत के केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री भूपेंद्र यादव और स्वीडन के जलवायु और पर्यावरण मंत्री सुश्री अन्निका स्ट्रैंडहॉल के संबोधन से हुई।
:केंद्रीय मंत्री श्री भूपेंद्र यादव ने 1972 में हुए मानव पर्यावरण पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन की आगामी 50वीं वर्षगांठ के लिए दुनिया को बधाई दी और पर्यावरण के मुद्दों को अंतरराष्ट्रीय चिंताओं में सबसे आगे रखा।
:“विकासशील देशों को केवल औद्योगिक ‘संक्रांति‘ की ही नहीं बल्कि एक औद्योगिक पुनर्जागरण – उभरते उद्योगों की जरूरत है जो स्वच्छ वातावरण के साथ-साथ रोजगार और समृद्धि पैदा करेगा।
:विकसित देशों को अपने ऐतिहासिक अनुभवों के साथ नेट-जीरो और लो कार्बन उद्योग की ओर वैश्विक संक्रांति का नेतृत्व करना चाहिए।
:इस पहल के नए सदस्यों जापान और दक्षिण अफ्रीका का स्वागत किया गया।
:इसके साथ ही देशों और कंपनियों को मिलाकर लीडआईटी की कुल सदस्यता 37 हो गई है।
:आयोजन के दौरान,भारत ने 2022-23 के कार्यान्वयन के लिए प्राथमिकताओं पर गोलमेज वार्ता की अध्यक्षता की,इसमें सभी वक्ताओं ने जलवायु कार्रवाई में तेजी लाने की आवश्यकता पर जोर दिया।
:ऐसे मंचों के माध्यम से प्रयासों और विचारों के आदान-प्रदान में दुनिया को सही दिशा में ले जाने की क्षमता है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *