Sun. May 26th, 2024
स्कूलों और कॉलेजों में स्टैंडर्ड क्लबस्कूलों और कॉलेजों में स्टैंडर्ड क्लब Photo@PIB
शेयर करें

सन्दर्भ:

: भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) पूरे भारत में स्कूलों और कॉलेजों में 6,467 स्टैंडर्ड क्लब (Standard Clubs) स्थापित किए हैं।

उद्देश्य है :

: मानकों और गुणवत्ता के महत्व के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देना।

स्टैंडर्ड क्लब के बारें में:

: स्टैंडर्ड क्लब. भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) वस्तुओं के मानकीकरण, अंकन और गुणवत्ता प्रमाणन की गतिविधियों के सामंजस्यपूर्ण विकास और उससे जुड़े मामलों के लिए भारत का राष्ट्रीय मानक निकाय है।
: BIS अधिनियम 2016 के तहत स्थापित।
: इन क्लबों की गतिविधियों में मानक लेखन प्रतियोगिताएं, क्विज़, वाद-विवाद, प्रयोगशालाओं और उद्योगों का प्रदर्शन दौरा और बहुत कुछ शामिल हैं।
: बीआईएस गतिविधियों के लिए वित्तीय सहायता की पेशकश करके शैक्षणिक संस्थानों का समर्थन करता है।
: मानक कक्षा’ के लिए ₹1 लाख, प्रयोगशाला के लिए 50 हज़ार की वित्तीय सहायता।
: BIS द्वारा वर्ष 2021 में शुरू की गई स्टैंडर्ड क्लब की पहल ने एक महत्वपूर्ण प्रभाव छोड़ा है।
: 6,467 स्टैंडर्ड क्लबों में से 5,562 स्टैंडर्ड क्लब स्कूलों में बनाए गए हैं, जबकि 905 क्लब विभिन्न कॉलेजों में बनाए गए हैं।

BIS के बारे में:

: इसकी स्थापना भारतीय मानक ब्यूरो अधिनियम, 2016 द्वारा की गई थी जो 12 अक्टूबर 2017 को लागू हुआ
: भारतीय मानक ब्यूरो उपभोक्ता मामले विभाग, उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के तहत भारत का राष्ट्रीय मानक निकाय है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *