Sun. Jan 29th, 2023
शेयर करें

स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में 75 रामसर स्थल हो गए
स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में 75 रामसर स्थल हो गए
Photo:PIB

सन्दर्भ:

:भारत में स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में देश में 13,26,677 हेक्टेयर क्षेत्र को कवर करते हुए कुल 75 रामसर स्थलों को बनाने के लिए रामसर स्‍थलों की सूची में 11 और आर्द्रभूमि शामिल हो गई हैं।

रामसर स्थल (आर्द्रभूमि) प्रमुख तथ्य:

:11 नए स्‍थलों में तमिलनाडु में चार (4), ओडिशा में तीन (3), जम्मू और कश्मीर में दो (2) और मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र प्रत्‍येक में एक (1) शामिल हैं।
:इन स्थलों को नामित करने से इन आर्द्रभूमियों के संरक्षण और प्रबंधन तथा इनके संसाधनों के कौशलपूर्ण रूप से उपयोग करने में सहायता मिलेगी।
:1971 में ईरान के रामसर में रामसर संधि पत्र पर हस्ताक्षर के अनुबंध करने वाले पक्षों में से भारत एक है।
:भारत ने 1 फरवरी, 1982 को इस पर हस्ताक्षर किए।
:1982 से 2013 के दौरान, रामसर स्‍थलों की सूची में कुल 26 स्‍थलों को जोड़ा गया, हालांकि, इस दौरान 2014 से 2022 तक, देश ने रामसर स्थलों की सूची में 49 नई आर्द्रभूमि जोड़ी हैं।
:2022 में कुल 28 स्थलों को रामसर स्थल घोषित किया गया है।
:रामसर प्रमाण पत्र में अंकित स्‍थल की तिथि के आधार पर इस वर्ष 2022 के लिए 19 स्‍थल और पिछले वर्ष 2021 के लिए 14 स्‍थल हैं।
:रामसर स्थलों की तमिलनाडु में अधिकतम संख्या 14 है, इसके पश्‍चात उत्‍तर प्रदेश में रामसर के 10 स्थल हैं।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *