Mon. Dec 5th, 2022
सिम्बेक्स- 2022
शेयर करें

सन्दर्भ:

: भारतीय नौसेना विशाखापत्तनम में सिंगापुर-भारत द्विपक्षीय नौसैनिक अभ्यास सिम्बेक्स- 2022 की मेजबानी कर रही है।

सिम्बेक्स- 2022:

: इस अभ्यास के 29वें संस्करण का आयोजन 26 से 30 अक्टूबर, 2022 तक किया जाएगा।
: सिम्बेक्स- 2022 दो चरणों में आयोजित किया जा रहा है।
: पहले चरण में विशाखापत्तनम में बंदरगाह पर तटीय अभ्यास 26 से 27 अक्टूबर 2022 तक आयोजित किया गया।
: दूसरा चरण 28 से 30 अक्टूबर 2022 तक बंगाल की खाड़ी में समुद्री चरण का अभ्यास किया जा रहा है।
: दोनों नौसेनाओं के बीच बंदरगाह चरण के अभ्यास में व्यापक स्तर पर पेशेवर तथा नौसैन्य गतिविधियों से संबंधी सहभागिता की गई।
: इस दौरान क्रॉस डेक विज़िट, सब्जेक्ट मैटर एक्सपर्ट एक्सचेंज (SMEE) और बैठक की कार्य योजना बनाने जैसे कार्य किये गए हैं।
: सिम्बेक्स- 2022 अभ्यास में भाग लेने हेतु सिंगापुर गणराज्य नौसेना के दो पोत आरएसएस स्टालवार्ट (फॉर्मेडेबल श्रेणी का एक युद्धपोत) और आरएसएस विजिलेंस (विक्ट्री श्रेणी की एक नौका) 25 अक्टूबर 2022 को विशाखापत्तनम पहुंचे थे।
: सिम्बेक्स अभ्यास की श्रृंखला वर्ष 1994 में प्रारंभ हुई थी।
: शुरू में इसे एक्सरसाइज लायन किंग के नाम में जाना जाता था।
: पिछले दो दशकों में इस नौसैनिक अभ्यास का दायरा और व्यापकता काफी हद तक बढ़ चुके हैं।
: इस अभ्यास में नौसैन्य संचालन के व्यापक स्पेक्ट्रम को कवर करने वाले उन्नत समुद्री नौसैनिक अभ्यास भी शामिल हैं।
: सिंगापुर गणराज्य नौसेना के फ्लीट कमांडर रियर एडमिरल सीन वाट जियानवेन ने 25 अक्टूबर 2022 को पूर्वी नौसेना कमान के कमांडिंग-इन-चीफ, फ्लैग ऑफिसर वाइस एडमिरल बिस्वजीत दासगुप्ता और पूर्वी बेड़े के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग रियर एडमिरल संजय भल्ला से मुलाकात की।
: इस बैठक के दौरान साझा हित के कई मुद्दों पर चर्चा की गई।

क्या महत्त्व है इस अभ्यास का:

: यह अभ्यास समुद्री इलाके में भारत और सिंगापुर के बीच उच्च स्तर के सहयोग का एक उदाहरण पेश करता है।
: यह हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा बढ़ाने की दिशा में दोनों देशों की प्रतिबद्धता तथा योगदान को भी विस्तार देता है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published.