Thu. Sep 28th, 2023
संयुक्त सैन्य अभ्यास 'दुस्तलिक' आरम्भ
शेयर करें

सन्दर्भ:

: भारतीय सेना और उज़्बेकिस्तान की सेना के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘दुस्तलिक’ विदेशी प्रशिक्षण नोड, पिथौरागढ़ (उत्तराखंड) में शुरू हुआ।

इसका उद्देश्य है:

: दोनों सेनाओं के बीच सकारात्मक संबंधों को बढ़ावा देना।

संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘दुस्तलिक’ के बारें में:

: इस चौथा संस्करण आरंभ 20 फ़रवरी 2023 को शुरू हुआ।
: उज़्बेकिस्तान और भारतीय सेना के 45-45 सैनिक इस अभ्यास में भाग ले रहे हैं।
: भारतीय सेना की टुकड़ी में गढ़वाल राइफल्स रेजिमेंट की एक इन्फैंट्री बटालियन के सैनिक शामिल हैं।
: इस अभ्यास का पहला संस्करण नवंबर 2019 में उज्बेकिस्तान में आयोजित किया गया था।
: 14 दिनों तक चलने वाला ये संयुक्त अभ्यास संयुक्त राष्ट्र के मेंडेट के अंतर्गत पर्वतीय और अर्ध-शहरी इलाकों में आतंकवाद विरोधी संयुक्त अभियानों पर ध्यान केंद्रित है।
: इसमें शामिल है फील्ड ट्रेनिंग अभ्यास, युद्ध चर्चाएं, व्याख्यान, प्रदर्शन।
: इसका समापन एक सत्यापन अभ्यास के साथ होगा।
: दोनों पक्ष संभावित खतरों को बेअसर करने के लिए संयुक्त रूप से सामरिक अभ्यासों की एक श्रृंखला में ट्रेनिंग, प्लानिंग और निष्पादन करेंगे।
: इन बलों के बीच अंतरसंक्रियता बढ़ाने पर उचित बल दिया जा रहा है।
: इस अभ्यास के दौरान जो दोस्ती, सह-भाव और सद्भावना पैदा होगी।
: साथ ही वह विभिन्न अभियानों के संचालन की कार्यप्रणाली को समझने में और एक दूसरे के संगठन की समझ को सक्षम करके, दोनों सेनाओं के बीच संबंधों को और मजबूत करने के मामले में एक लंबा रास्ता तय करेगी।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *