Mon. Apr 15th, 2024
वाइब्रेंट विलेज कार्यक्रमवाइब्रेंट विलेज कार्यक्रम Photo@Google
शेयर करें

सन्दर्भ:

: सरकार ने देश के सीमावर्ती गांवों के लिए वायब्रंट विलेज कार्यक्रम (VVP) शुरू किया, जिसक जिक्र प्रधानमंत्री ने आज लालकिले से की है।

वाइब्रेंट विलेज कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य है:

: देश की सीमा से लगे गांवों में विकास को बढ़ावा देना।

वायब्रंट विलेज कार्यक्रम के बारें में:

: अब देश का अंतिम गांव नहीं बल्कि सीमा पर नज़र आने वाला देश का पहला गांव है।
: वाइब्रेंट विलेजेज प्रोग्राम (VVP) की घोषणा 2022 में वित्त मंत्री के बजट भाषण में की गई थी।
: इस साल 10 अप्रैल को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अरुणाचल प्रदेश के सीमावर्ती गांव किबिथू में VVP लॉन्च किया।
: इस कार्यक्रम में भारत की सीमाओं पर विरल आबादी, सीमित कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचे वाले सीमावर्ती गांवों के कवरेज की परिकल्पना की गई है, जो अक्सर विकास के लाभ से वंचित रह जाते हैं।
: इसमें हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और लद्दाख के सीमावर्ती क्षेत्र शामिल हैं।
: ग्राम पंचायतों की सहायता से ज़िला प्रशासन द्वारा वाइब्रेंट विलेज़ एक्शन प्लान बनाए गए
: गांवों में शहरी सुविधाएं प्रदान करने और पर्यटन को बढ़ावा देने और क्षेत्रों से पलायन को रोकने के लिए कार्यक्रम को तीन चरणों में लागू किया जाएगा।
: इस कार्यक्रम के पहले चरण में 46 ब्लॉकों के 662 गांवों में लगभग 1.42 लाख की आबादी को कवर करने का लक्ष्य है।
: इस योजना के तहत 2022 से 2026 तक 4800 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे और पहले चरण में 11 जिले, 28 ब्लॉक और 1451 गांवों को शामिल किया गया है।
: ज्ञात हो कि VVP का एक अन्य लक्ष्य सीमावर्ती गांवों से पलायन को रोकना है, जिसके लिए रोजगार सृजन के अवसर पैदा किए जा रहे हैं।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *