मंथन मंच के शुभारंभ की घोषणा

शेयर करें

मंथन मंच के शुभारंभ की घोषणा
मंथन मंच के शुभारंभ की घोषणा
Photo:NSEIT

सन्दर्भ:

:भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार (पीएसए) के कार्यालय ने मंथन मंच (Manthan Platform) के शुभारंभ की घोषणा की है,जो देश के अंदर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के सभी क्षेत्रों को सक्षम और सशक्त बनाने के विज़न के दायित्‍व का वहन करेगा।

मंथन मंच का उद्देश्य है:

:संयुक्त राष्ट्र द्वारा परिभाषित सतत विकास लक्ष्यों (SDG) चार्टर के अनुसार भारत के सतत लक्ष्‍यों को प्राप्त करने हेतु उद्योग और वैज्ञानिक अनुसंधान तथा विकास पारिस्थितिकी तंत्र के बीच बड़े पैमाने पर सहयोग को बढ़ावा देना है।

मंथन मंच प्रमुख तथ्य:

:मंथन मंच भारत में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी-आधारित सामाजिक प्रभाव वाले नवाचार और समाधानों के परिदृश्य में संभावित परिवर्तन ला सकता है।
:मंथन मंच का शुभारंभ, संयुक्त राष्ट्र के SDG लक्ष्यों के प्रति भारत की प्रतिबद्धता का भी प्रमाण है।
:इसकी शुरुआत भारत की आज़ादी के 75 वर्ष- आज़ादी का अमृत महोत्सव की याद दिलाता है,तथा राष्ट्रीय और वैश्विक समुदायों को भारत की प्रौद्योगिकी क्रांति के करीब लाने का मौका देता है।
:यह मंच भविष्य के विज्ञान, नवाचार और प्रौद्योगिकी के नेतृत्व वाले विकास की रूपरेखा तैयार करने के लिए सूचना के आदान-प्रदान सत्रों, प्रदर्शनियों और कार्यक्रमों के माध्यम से ज्ञान की अदला बदली और संवाद की सुविधा प्रदान करेगा।
:NSEIT द्वारा संचालित,यह मंथन मंच हितधारकों के बीच बातचीत बढ़ाने, अनुसंधान और नवाचार की सुविधा प्रदान करने और सामाजिक प्रभाव छोड़ने वाली चुनौतियों सहित विभिन्न उभरती प्रौद्योगिकियों और वैज्ञानिक हस्तक्षेपों की चुनौतियों को साझा करने में सक्षम होगा।
:मंथन मंच विलक्षण है और भारत के सतत लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में नवोन्‍मेषी विचारों, आविष्कारशील मस्तिष्‍क और सार्वजनिक-निजी-अकादमिक मदद के द्वारा देश में परिवर्तन लाने का जरूर आधार बनेगा।
:यह मंच मांग पक्ष और आपूर्ति पक्ष के उपयोगकर्ताओं के बीच बड़े पैमाने पर सहयोग को बढ़ावा देने हेतु जरुरी प्रोत्साहन प्रदान करता है।
:यह मंच नई अवधारणाओं, वैज्ञानि‍क विचारों और नए प्रौद्योगिकीय निष्‍कर्षों को देश भर में तेजी से अपनाने में सहायता करेगा।


शेयर करें

Leave a Comment