भारत-बांग्लादेश संयुक्त नदी आयोग मंत्री स्तरीय बैठक

शेयर करें

संयुक्त नदी आयोग मंत्री स्तरीय बैठक
संयुक्त नदी आयोग मंत्री स्तरीय बैठक
Photo@PIB

सन्दर्भ:

:भारत-बांग्लादेश संयुक्त नदी आयोग की 38वीं मंत्री स्तरीय बैठक नई दिल्ली में संपन्न हुई।

संयुक्त नदी आयोग बैठक प्रमुख तथ्य:

:यह 38वीं मंत्री स्तरीय बैठक 25 अगस्त, 2022 को शुरू हुई।

:भारत-बांग्लादेश संयुक्त नदी आयोग का गठन 1972 में किया गया था।
:इस बैठक का आयोजन 12 वर्षों के अंतराल के बाद इसका किया गया था,अतः महत्वपूर्ण था।
:दोनों पक्षों ने कुशियारा नदी के पानी को अंतरिम तौर पर साझा करने के लिये समझौता-ज्ञापन के मसौदे को अंतिम रूप दिया।
:दोनों पक्षों ने त्रिपुरा में सबरूम टाउन की पेयजल आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये फेनी नदी से पानी लेने वाले स्थान तथा उसकी तकनीकी अवसंरचना के डिजाइन को अंतिम रूप दिये जाने का भी स्वागत किया।
:इस पर दोनों देशों में अक्टूबर 2019 में समझौता-ज्ञापन अस्तित्व में आया था।
:भारत जिन क्षेत्रों में बांग्लादेश का सहयोग कर रहा है,उनमें बाढ़ के वास्तविक समय के आंकड़ों को साझा करना भी है।
:भारत और बांग्लादेश आपस में 54 नदियों को साझा करते हैं।
:इनमे ऐसी सात नदियों को पहले ही चिह्नित कर लिया गया था,जिनके सम्बंध में जल के बंटवारे पर प्राथमिकता के आधार पर प्रारूप तैयार किया जाना है।
:आंकड़ों के आदान-प्रदान के लिये आठ नदियों को और जोड़ दिया जाएगा।
:इस बैठक में दोनों देशो के बीच मौजूद नदियों के जल को साझा करना, बाढ़ के आंकड़ों को साझा करना, नदी के प्रदूषण को रोकना, नदियों में गाद जमा होने व उसके प्रबंधन पर संयुक्त अध्ययन करना, नदियों के तटों की सुरक्षा के लिये कार्य करना आदि शामिल था।


शेयर करें

Leave a Comment