Sun. Jan 29th, 2023
शेयर करें

भारत के 10 और Wetlands (आर्द्रभूमियों) को रामसर सूची में जोड़ा गया
भारत के 10 और Wetlands (आर्द्रभूमियों) को रामसर सूची में जोड़ा गया

सन्दर्भ:

:केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय के अनुसार भारत के 10 और Wetlands (आर्द्रभूमियों) को रामसर सूची में शामिल कर लिया गया है जिससे अब इनकी कुल संख्या 64 हो गई है।

Wetlands (आर्द्रभूमियों) प्रमुख तथ्य:

:इस तरह भारत और चीन के पास अब अंतर्राष्ट्रीय महत्व की आर्द्रभूमियों की संख्या सबसे अधिक है।
: ये रामसर स्थल/आर्द्रभूमि क्षेत्र है- तमिलनाडु का कोंथनकुलम पक्षी अभयारण्य, मन्नार की खाड़ी समुद्री जीवमंडल रिजर्व,वेम्बन्नूर वेटलैंड कॉम्प्लेक्स, वेलोड पक्षी अभयारण्य, वेदान्थंगल पक्षी अभयारण्य और उदयमर्थनपुरम पक्षी अभयारण्य तथा ओडिशा का सतकोसिया गॉर्ज,गोवा की नंदा झील,कर्नाटक का रंगनाथिट्टू पक्षी अभयारण्य और मध्य प्रदेश का सिरपुर आर्द्रभूमि स्थल।
:भारत स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष में अपनी 75 आर्द्रभूमियों के लिए रामसर मान्यता प्राप्त करने का लक्ष्य लेकर चल रहा है।
:ये आर्द्रभूमि स्थल देश में 12,50,361 हेक्टेयर क्षेत्र में फैले हैं।
:अभी हाल ही में प्रमुख Wetlands को जोड़ा गया था – करीकिली पक्षी अभयारण्य, पल्लिकरनई मार्श रिजर्व फॉरेस्ट और पिचवरम मैंग्रोव तीनों तमिलनाडु में, पाला आर्द्रभूमि मिजोरम में,और साख्य सागर मध्य प्रदेश में।
:रामसर एक नगर का नाम है जो कैस्पियन सागर के तट पर और ईरान में स्थित है।
:विश्व आर्द्र दिवस 2022 का थीम है: “वेटलैंड एक्शन फॉर पीपल्स एंड नेचर।

इसे भी पढ़ें: भारत ने 5 नए Wetlands (रामसर स्थल) को नामित किया


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *