Fri. Feb 3rd, 2023
इंडिया-इंडो कार्पेट
शेयर करें

सन्दर्भ:

: भारत-इंडोनेशिया समन्वित गश्त अभियान “इंडिया-इंडो कार्पेट” के 39वें संस्करण का आयोजन।

इंडिया-इंडो कार्पेट के बारें में:

: इस संस्करण को 08 से 19 दिसंबर, 2022 तक आयोजित किया जा रहा है।
: वाणिज्यिक नौवहन, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार एवं वैध समुद्री गतिविधियों के संचालन के लिए आईओआर के इस महत्वपूर्ण हिस्से को सुरक्षित तथा संरक्षित रखने के उद्देश्य से भारत और इंडोनेशिया वर्ष 2002 से साल में दो बार गश्ती अभ्यास कर रहे हैं।
: भारतीय नौसेना के युद्धपोत आईएनएस करमुक ने इंडोनेशिया के बेलावन में तैनाती से पूर्व ब्रीफिंग में भाग लिया।
: आईएनएस करमुक एक स्वदेश निर्मित मिसाइल कार्वेट है।
: इस गश्ती अभियान को 15 से 16 दिसंबर, 2022 तक अंतर्राष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा (IMBL) के साथ आयोजित किया जाएगा और पोर्ट ब्लेयर में एक डीब्रीफ के साथ संपन्न होगा।
: आईएनएस करमुक के साथ, स्वदेश निर्मित लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी जहाज एल-58 और डोर्नियर मैरीटाइम पेट्रोल एयरक्राफ्ट गश्त गतिविधि में भाग लेंगे।

: इंडोनेशियाई पक्ष का प्रतिनिधित्व पट्टिमुरा क्लास कार्वेट के एक कप्तान केआरआई कट न्याक दीन करेंगे।
: भारत सरकार के सागर दृष्टिकोण के हिस्से के रूप में भारतीय नौसेना इस समुद्री इलाके की समुद्री सुरक्षा बढ़ाने के लिए हिंद महासागर क्षेत्र (आईओआर) में आने वाले देशों के साथ सक्रिय रूप से संलग्न रही है।
: दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच आपसी समझ व पारस्परिकता बढ़ाने में इस तरह के नौसैन्य सहयोग सहायता करते हैं।
: दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच इंडिया-इंडो कॉर्पैट का 39वां संस्करण समुद्री सहयोग को बढ़ाने और भारत तथा इंडोनेशिया के बीच मित्रता के मजबूत बंधन को और सुदृढ़ करने का प्रयास करता है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *