Mon. Dec 5th, 2022
शेयर करें

बांधवगढ़ वन अभ्यारण्य
बांधवगढ़ वन अभ्यारण्य

सन्दर्भ:

: भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) ने मध्य प्रदेश के बांधवगढ़ वन अभ्यारण्य में प्राचीन पुरातात्विक अवशेषों की खोज की है।

बांधवगढ़ वन अभ्यारण्य से प्राप्त अवशेष:

: अद्भुत पुरातात्विक अवशेषों का पता लगाया गया है।
: इन अवशेषों शामिल है –
1- कलचुरी काल के 26 प्राचीन मंदिर/अवशेष (9वीं शताबादी से 11वीं शताब्दी)
2- बौद्ध धर्म से संबंधित 26 गुफाएं (दूसरी शताब्दी से 5वीं शताब्दी )
3- 2 मठ, 2 स्तूप, 24 ब्राह्मी शिलालेख (दूसरी शताब्दी से 5वीं शताब्दी )
4- 46 मूर्तियां, 20 बिखरे हुए अवशेष और 19 जल संरचनाएं (दूसरी से 15वीं शताब्दी)
5- 46 मूर्तियों में से एक सबसे बड़ी मूर्ति वराह की है।
: ये अवशेष राजा श्री भीमसेन, महाराजा पोथासिरी और भट्टदेव के शासनकाल से जुड़ी हैं।
: इन शिलालेखों में कौशांबी, मथुरा, पावता (पर्वत), वेजभरदा और सपतनैरिका जैसी जगहों का जिक्र है।
: ASI के जबलपुर सर्कल के तहत यह खोज की गई।
: 1938 के बाद पहली बार खोज का काम शुरू किया गया था।
: ASI की टीम ने बांधवगढ़ बाघ अभ्यारण्य क्षेत्र में करीब 170 वर्ग किमी के क्षेत्र में महीनों तक की खोज की।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published.