Thu. May 30th, 2024
बसोहली पश्मीनाबसोहली पश्मीना Photo@Google
शेयर करें

सन्दर्भ:

: लोकप्रिय डोगरा व्यंजन बसोहली पश्मीना और उधमपुर की कलारी व्यंजन को प्रतिष्ठित भौगोलिक संकेत (GI) टैग से सम्मानित किया गया है।

बसोहली पश्मीना के बारें में:

: इसकी उत्पति जम्मू और कश्मीर के कठुआ जिला में।
: पारंपरिक शिल्प, 100 वर्ष से अधिक पुराना, हाथ से काता गया उत्पाद।
: अत्यधिक मुलायम, सुंदरता और हल्के स्वभाव के लिए जाना जाता है।
: यह जम्मू-कश्मीर में शिल्प कौशल की समृद्ध परंपरा को दर्शाता है।

कलारी व्यंजन के बारें में:

: इसकी उत्पति जम्मू और कश्मीर के उधमपुर जिला में।
: कलारी जातीय डोगराओं का एक प्रिय स्ट्रीट फूड है।
: यह व्यंजन दूध का उपयोग करके तैयार किया जाता है और परिणामस्वरूप गाढ़ा पनीर बनता है।
: इसे अपनी ही चर्बी में पकाया जाता है, नमक डाला जाता है और बन के टुकड़ों के साथ गर्मागर्म परोसा जाता है।

उधमपुर की कलारी व्यंजन
उधमपुर की कलारी व्यंजन
Photo@Google

GI टैग के बारे में:

: GI मुख्य रूप से एक निश्चित भौगोलिक क्षेत्र से उत्पन्न होने वाला कृषि, प्राकृतिक या निर्मित उत्पाद (हस्तशिल्प और औद्योगिक सामान) है।
: आमतौर पर, ऐसा नाम गुणवत्ता और विशिष्टता का आश्वासन देता है, जो अनिवार्य रूप से इसके मूल स्थान के कारण होता है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *