प्रधानमंत्री करेंगे पहले भारत-मध्य एशिया सम्मलेन की मेहबानी

शेयर करें

पहले भारत-मध्य एशिया सम्मलेन

सन्दर्भ- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले भारत-मध्य एशिया शिखर सम्मलेन की मेहबानी करेंगे।
प्रमुख तथ्य-:इसका आयोजन वर्चुअल रुप से किया जाएगा।
:इसमें कज़ाकिस्तान,तुर्कमेनिस्तान,उज्बेकिस्तान,ताजिकिस्तान और किर्गिस्तान के राष्ट्रध्यक्ष शामिल होंगे।
:कोविड-19 के कारण मध्य एशियाई नेताओं के भारत 73वें गणतंत्र दिवस समारोह में भाग लेने में असमर्थ होने के बाद आभासी शिखर सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है।
:मध्य एशियाई राष्ट्र को गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित करने की योजना थी हालांकि इसकी औपचारिक घोषणा नहीं हुई थी।
:भारत मजबूत संबंधों व्यापार और सहयोग के लिए एक संस्थागत ढांचा तैयार करने एवं अफगानिस्तान की स्थिति आदि मुद्दों पर चर्चा करेगा।
:सम्मलेन के दौरान प्रमुख नेताओं से संबंधों को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के साथ-साथ विकसित क्षेत्रीय सुरक्षा स्थिति पर बातचीत करने की उम्मीद है।
:वर्तमान में 6 देशों में भारत मध्य एशिया वार्ता नामक विदेश मंत्रियों के स्तर पर एक बैठक आयोजित की जाती है।
:इस वार्ता की तीसरी बैठक का आयोजन दिसंबर में नई दिल्ली में की गई थी
:नवंबर में भारत द्वारा आयोजित अफगानिस्तान पर दिल्ली क्षेत्रीय सुरक्षा वार्ता में सभी 5 मध्य एशियाई राज्यों के शीर्ष राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारियों ने भाग लिया था।
:ज्ञात हो की तीन मध्य एशियाई राष्ट्र ताजिकिस्तान,तुर्कमेनिस्तान और उज्बेकिस्तान अफगानिस्तान के साथ सीमा साझा करते है।
:साल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी मध्य एशियाई देशों का दौरा किया था।


शेयर करें

Leave a Comment