Thu. May 30th, 2024
पीएम-ई-बस सेवापीएम-ई-बस सेवा Photo@twitter
शेयर करें

सन्दर्भ:

: प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने सार्वजनिक-निजी भागीदारी (PPP) मॉडल पर सिटी बस संचालन के विस्तार के लिए एक बस योजना “पीएम-ईबस सेवा” (PM-eBus Sewa) को मंजूरी दे दी है।

पीएम-ई-बस सेवा के बारें में:

: 169 शहरों में सार्वजनिक-निजी भागीदारी मॉडल पर 10,000 ई-बसें चलाई जाएंगी।
: ग्रीन अर्बन मोबिलिटी पहल के तहत 181 शहरों में बुनियादी सुविधाओं को उन्नत किया जाएगा।
: इस योजना की कुल अनुमानित लागत 57,613 करोड़ रुपये है।
: 20,000 करोड़ रुपये का समर्थन केंद्र सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा।
: यह योजना 10 वर्षों तक बस संचालन का समर्थन करेगी
: 45,000 से अधिक प्रत्यक्ष रोजगार के अवसर तैयार होने की संभावना है।
: यह योजना 2011 की जनगणना के अनुसार तीन लाख और उससे अधिक आबादी वाले शहरों को कवर करेगी।
: इस योजना के तहत उन शहरों को प्राथमिकता दी जाएगी, जहां कोई सुव्यवस्थित बस सेवा उपलब्ध नहीं है।
: योजना के दो खंड हैं:
A – सिटी बस सेवाओं का विस्तार (169 शहर) में।
B- ग्रीन अर्बन मोबिलिटी पहल (GUMI) (181 शहर) में।

ई-मोबिलिटी को बढ़ावा देना:

: इलेक्ट्रिक मोबिलिटी अपनाने से ध्वनि और वायु प्रदूषण कम होगा और कार्बन उत्सर्जन पर अंकुश लगेगा।
: शहरों को ग्रीन अर्बन मोबिलिटी पहल के तहत चार्जिंग सुविधाओं के विकास के लिए भी समर्थन दिया जाएगा।
: यह योजना ई-मोबिलिटी को बढ़ावा देगी और बिहाइंड द मीटर इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए पूर्ण सहायता प्रदान करेगी।
: बस-आधारित सार्वजनिक परिवहन की हिस्सेदारी बढ़ने के कारण जो बदलाव आएगा, उससे ग्रीन हाउस गैस (जीएचजी) उत्सर्जन में कमी आएगी।
: इस योजना में ई-बसों का समूह तैयार करने को लेकर इलेक्ट्रिक बसों की खरीद के लिए व्यापक तौर पर अर्थव्यवस्था को भी अनुकूल बनाने की जरूरत होगी।
: बस की प्राथमिकता वाले बुनियादी सुविधाओं के समर्थन से न केवल अत्याधुनिक, ऊर्जा कुशल इलेक्ट्रिक बसों के प्रसार में तेजी आएगी, बल्कि ई-मोबिलिटी क्षेत्र में नवाचार के साथ-साथ इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए सशक्त आपूर्ति श्रृंखला के विकास को भी बढ़ावा मिलेगा।

PM-eBus Sewa 1
PM-eBus Sewa 1
Photo@Twitter
PM-eBus Sewa 2
PM-eBus Sewa 2
Photo@Twitter

शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *