Mon. Jan 30th, 2023
शेयर करें

पेरेंटिंग ऐप का शुभारंभ किया गया
पेरेंटिंग ऐप का शुभारंभ किया गया
Photo:PIB

सन्दर्भ:

:केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारती प्रवीण पवार ने 16 अगस्त 2022 को बच्चों के परवरिश को लेकर एक मोबाइल ऐप पेरेंटिंग ऐप का शुभारंभ किया जो बच्चे के जन्म के शुरुआती दो साल में उसके संज्ञात्मक विकास पर आधारित है।
:साथ ही प्रारंभिक बाल विकास सम्मेलन, पालन 1000 राष्ट्रीय अभियान का भी शुभारंभ किया।

प्रारंभिक बाल विकास सम्मेलन प्रमुख तथ्य:

:बच्चे के जीवन के शुरुआती चरणों के महत्व पर बल देते हुए कहा गया कि इसका प्रभाव जीवन भर रह सकता है।
:गर्भावस्था के दौरान एक बच्चे की मस्तिष्क विकास प्रक्रिया शुरू होती है।
:यह गर्भवती महिला के स्वास्थ्य, पोषण और पर्यावरण से प्रभावित होता है।
:जन्म के बाद, शारीरिक विकास के अलावा, एक मानव बच्चे के मस्तिष्क का विकास उसके भविष्य के स्तर की बुद्धि और जीवन की गुणवत्ता का मार्ग प्रशस्त करता है।
:इसलिए बच्चे के अस्तित्व को अलग-थलग नहीं किया जा सकता क्योंकि यह मां के स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है।
:निरंतर देखभाल’ की अवधारणा का पालन राष्ट्रीय 1000 अभियान,कार्यक्रम के अंतर्गत किया जा रहा है, जो बच्चे के अस्तित्व में सुधार के लिए महत्वपूर्ण जीवन चरणों के दौरान देखभाल पर बल देती है।
:पहले हजार दिनों में गर्भधारण के साथ-साथ बच्चे के जीवन के पहले दो वर्ष शामिल होते हैं और इस अवधि के दौरान बढ़ते बच्चे को उचित पोषण, प्यार और सहयोग की आवश्यकता होती है।
:पहले 1000 दिन बच्चे के शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक, संज्ञानात्मक और सामाजिक स्वास्थ्य के लिए के लिए एक ठोस नींव रखते हैं।
:राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के अंतर्गत बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम ने व्यापक रूप से एकीकृत हस्तक्षेप किया जिससे बाल अस्तित्व में सुधार हुआ और शिशु और पांच वर्ष से कम मृत्यु दर में योगदान करने वाले कारकों को एड्रेस किया गया।
:भारत ने बाल मृत्यु दर को कम करने की ओर तेजी से कदम उठाए हैं, जहाँ वर्ष 2014 में जन्म के समय प्रति 1,000 बच्चों पर 45 मौतें होती थी, वहीं 2019 में घटकर यह 35 रह गईं।

पालन ​​1000 राष्ट्रीय अभियान के बारें में:

:पालन 1000 – पहले 1000 दिनों की यात्रा’, अपने जीवन के पहले 2 वर्षों में बच्चों के संज्ञानात्मक विकास पर केंद्रित है।
:पालन ​​1000 माता-पिता, परिवारों और अन्य देखभाल करने वालों के लिए प्रारंभिक वर्षों के प्रशिक्षण को परिवारों की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए डिज़ाइन की गई सेवाओं के साथ जोड़ती है।
:जीवन के पहले वर्षों में एक मजबूत शुरुआत के लिए देखभाल करने वाले महत्वपूर्ण हैं।
:कार्यक्रम को राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) के मिशन के साथ जोड़ा गया है, जिसमें पहले 1000 दिनों में दायित्वपूर्ण देखभाल और हस्तक्षेप पर बल दिया गया है।

पेरेंटिंग ऐप के बारे में:

:पालन ​​1000 पेरेंटिंग ऐप पालन पोषण करने वालों को व्यावहारिक सलाह प्रदान करेगा कि वे अपनी दिनचर्या में क्या कर सकते हैं और माता-पिता की विभिन्न शंकाओं को हल करने में मदद करेंगे और बच्चे के विकास में हमारे प्रयासों को निर्देशित करेंगे।
:पालन 1000 के क्षेत्र में 2 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का ज्ञानात्मक विकास एक प्रमुख ध्यान देने वाला क्षेत्र है।
:जिसमे प्यार में वृद्धि करना, बात करना और व्यस्त रहना, घूमने फिरने और खेल के माध्यम से खोज करना, कहानियां पढ़ना और चर्चा करना, स्तनपान के दौरान बच्चे के साथ मां का संबंध और तनाव का प्रबंधन और शांत रहना शामिल है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *