Wed. Apr 24th, 2024
जीवंत ग्राम कार्यक्रमजीवंत ग्राम कार्यक्रम
शेयर करें

सन्दर्भ:

: सरकार द्वारा जीवंत ग्राम कार्यक्रम (VVP- Vibrant Villages Programme) की मंजूरी के बाद, संबंधित राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में VVP के कार्यान्वयन के संबंध में कई गतिविधियां शुरू की गई हैं।

जीवंत ग्राम कार्यक्रम से जुड़े प्रमुख तथ्य:

: अनुमोदन के तुरंत बाद, चिन्हित गांवों के व्यापक विकास की योजना तैयार करने के क्रम में राज्य/जिला अधिकारियों के क्षमता संवर्धन के लिए एक राष्ट्रीय स्तर की कार्यशाला आयोजित की गई।
: इसके अलावा, चिन्हित गांवों में जीवंतता लाने के लिए, 17 केंद्रीय कैबिनेट मंत्रियों ने अब तक कुछ चिन्हित गांवों का दौरा और रात्रि प्रवास किया है, ताकि उन गांवों में केंद्र सरकार की योजनाओं के कार्यान्वयन की स्थिति और उनकी विकास संबंधी जरूरतों के बारे में ग्रामीणों से प्रत्यक्ष प्रतिक्रिया प्राप्त की जा सके
: अब तक जीवंत गांवों में मेले, त्योहार, स्थानीय सांस्कृतिक विरासत को बढ़ावा देना, जागरूकता शिविर, खेल प्रतियोगिता, स्वास्थ्य जांच शिविर, पशु चिकित्सा शिविर समेत लगभग 2900 गतिविधियां आयोजित की गई हैं।
: राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों ने हाल ही में गांवों के व्यापक विकास के लिए आवश्यक कार्यों/परियोजनाओं को दर्शाते हुए अपनी ग्राम कार्य योजना (VAP) भेजी है।
: VVP के तहत फंड जारी करना, VVAP के तहत अनुमानित कार्यों/परियोजनाओं के अनुमोदन के अधीन है।
: ज्ञात हो कि सरकार द्वारा इसे 15 फरवरी 2023 को स्वीकृति दी गई थी।
: जीवंत ग्राम कार्यक्रम अथवा वाइब्रेंट विलेज योजना (VVP) देश के उत्तरी भूमि सीमा के साथ 19 जिलों एवं 46 सीमा ब्लॉकों 4 राज्यों तथा 1 केंद्र शासित प्रदेशों में जरुरीआधारिक अवसंरचना के विकास एवं आजीविका के अवसरों के निर्माण हेतु धन प्रदान करेती है।
: जीवंत ग्राम कार्यक्रम एक केंद्र प्रायोजित योजना है जिसका उद्देश्य उत्तरी सीमा पर सीमावर्ती गांवों के स्थानीय प्राकृतिक मानव एवं अन्य संसाधनों के आधार पर आर्थिक चालकों की पहचान करना तथा “हब एंड स्पोक मॉडल” पर विकास केंद्रों का विकास करना है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *