Wed. Dec 6th, 2023
जियोटैगिंगजियोटैगिंग Photo@Google
शेयर करें

सन्दर्भ:

: दिल्ली सरकार ने विभागों को वित्तीय मंजूरी लेने के लिए परियोजनाओं को जियोटैगिंग (Geotagging) करने का निर्देश दिया है।

जियोटैगिंग के बारें में:

: जियोटैगिंग मेटाडेटा जोड़ने की प्रक्रिया है जिसमें किसी स्थान के बारे में भौगोलिक जानकारी को डिजिटल मानचित्र में शामिल किया जाता है।
: डेटा में आमतौर पर अक्षांश और देशांतर निर्देशांक होते हैं लेकिन इसमें टाइमस्टैम्प और अतिरिक्त जानकारी के लिंक भी शामिल हो सकते हैं।
: जियोटैग मेटाडेटा को मैन्युअल या प्रोग्रामेटिक रूप से जोड़ा जा सकता है।
: जियोटैगिंग उपभोक्ता गतिविधि में सहायक अंतर्दृष्टि प्रदान करती है।
: उपभोक्ता अपने ब्रांडों के साथ कहाँ और कैसे बातचीत करते हैं, इसका विश्लेषण करने के लिए संगठन जियोटैग का उपयोग करके विशेष ऑफ़र और संदेश प्रदान कर सकते हैं।
: जियोटैग से यह भी पता चलता है कि किसी वेबसाइट से जुड़ते समय व्यक्ति कहां हैं, या वे अपने मोबाइल डिवाइस के साथ पूरे दिन कहां घूमते हैं।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *