Fri. Feb 3rd, 2023
शेयर करें

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA)
राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) Photo@PIB

सन्दर्भ:

:केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने आज 27 अगस्त 2022 को नवा रायपुर, छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) के कार्यालय का उद्घाटन किया।

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) प्रमुख तथ्य:

:केंद्र सरकार ने NIA को एक फेडरल क्राइम इन्वेस्टीगेशन एजेंसी के रूप में और सशक्त बनाने के लिए अनेक महत्त्वपूर्ण कदम उठाए हैं।
:NIA ने बहुत ही कम समय में अपने कार्य क्षेत्र के हर पहलू में उच्च बेंचमार्क स्थापित कर पूरे विश्व में एक प्रमुख Anti-Terror Investigation Agency के रूप में अपनी पहचान बनाई है।
:एनआईए ने दोषसिद्धि और कनविक्शन में स्वर्ण मानक (Gold Statndard) स्थापित किए हैं एवं क़रीब 94% तक दोषसिद्धि हासिल की है,और वो भी ऐसे मामलों में जहां साक्ष्य मिलना ही मुश्किल है।
:सरकार द्वारा वामपंथी उग्रवाद और जाली करेंसी तथा नारकोटिक्स समेत आतंकवाद से जुड़े सभी अपराधों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई गई है।
:पिछले वर्षों में एनआईए ने 10 राज्यों में अपने काम का विस्तार किया है और 3 साल में 18 राज्यों में अपनी पहुँच को मजबूत किया है,और 2024 तक सभी राज्यों में स्थापित हो जाएगी।
:एनआईए को मजबूत करने के लिए Quality of Investigation, Best Manpower and Training, Continuous Learning Process, Best Technique – Cyber and Forensic help को इसकी कार्यपद्धति में शामिल किया है।
:2019 के बाद सरकार ने एनआईए एक्ट और यूएपीए एक्ट में बहुत महत्वपूर्ण संशोधन किए हैं और इसके दायरे को बढ़ाते हुए अब संगठनो के साथ व्यक्तियों को भी आतंकवादी घोषित करने का अधिकार दिया गया है।
:2009 में वामपंथी उग्रवाद की सर्वाधिक घटनाएं 2258 हुई थी इसमें 77% कटौती के साथ 2021 में वे सिर्फ 509 रह गई।
:पहले वामपंथी उग्रवाद 120 जिलों तक फैला हुआ था जो अब सिर्फ 46 तक रह गया है


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *