चरक शपथ पर विवाद

शेयर करें

CHARAK SHAPATH
चरक शपथ पर विवाद
Photo:Twitter

सन्दर्भ-तमिलनाडु सरकार ने राजकीय मदुरै मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. रथीनवेल (Dr.Rathinwell)को उनके पद से इसलिए हटा दिया,क्योंकि उन्होंने MBBS छात्रों को अंग्रेजी में हिप्पोक्रेटिक शपथ की जगह छात्रों को संस्कृत में महर्षि चरक शपथ दिला दी थी।

चरक शपथ को लेकर क्या है विवाद :

:राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (NMC),चिकित्सा शिक्षा और प्रथाओं के नियामक (जिसने 2020 में मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया की जगह ली) ने 7 फरवरी 2022 को मेडिकल कॉलेजों को सुझाव दिया कि हिप्पोक्रेटिक शपथ को “चरक शपथ” द्वारा प्रतिस्थापित किया जाना चाहिए, जिसके बाद विवाद शुरू हुआ।
:डॉ. रथीनवेल पर आरोप है कि उन्होंने प्रावधान नहीं होने के बाजवूद कॉलेज में MBBS फर्स्ट ईयर के छात्रों को संस्कृत में महर्षि चरक शपथ दिला दी।
:डीन ने दावा किया कि शपथ तैयार करने वाले छात्र मंत्रिमंडल के सचिव ने हिप्पोक्रेटिक शपथ के बजाय गलती से महर्षि चरक शपथ को डाउनलोड कर लिया था।
:जहां कुछ चिकित्सकों ने प्रस्ताव का स्वागत किया,वहीं आधुनिक चिकित्सा के डॉक्टरों के राष्ट्रीय प्रतिनिधि मंच इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने इस मामले को स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया के समक्ष उठाया।
:अभी के समय में जो शपथ की पद्धति है वो हिप्पोक्रेटिक यानि कि ग्रीक दार्शनिक और चिकित्सक हिप्पोक्रेट्स के नाम पर ली जाती है,उन्हें फादर ऑफ मेडिसिन भी कहा जाता है।
:इस शपथ को व्हाइट कोट सेरेमनी के दौरान लिया जाता है,जिसे सालों से दुनिया भर के डॉक्टर यही शपथ लेते रहे हैं।
:हिप्पोक्रेटिक शपथ का श्रेय कोस द्वीप के हिप्पोक्रेट्स को दिया जाता है जो शास्त्रीय काल (चौथी-पांचवीं शताब्दी ईसा पूर्व) के यूनानी चिकित्सक थे,मोटे तौर पर बुद्ध की मृत्यु (486 ईसा पूर्व) से लेकर भारत में मौर्यों (321 ईसा पूर्व) के उदय तक की अवधि के अनुरूप है।
:हिप्पोक्रेट्स के महान समकालीनों में, तथाकथित “आधुनिक चिकित्सा के पिता”,एथेनियन दार्शनिक प्लेटो और उनके शिक्षक सुकरात,और प्लेटो के छात्र और सिकंदर महान,अरस्तू के शिक्षक थे।
:शपथ नैतिक सिद्धांतों का एक चार्टर है जिसे सदियों से चिकित्सकों ने अपने पेशे के अभ्यास में बनाए रखने की शपथ ली है।
:हिप्पोक्रेट्स को ‘द कॉर्पस हिप्पोक्रेटिकम’ नामक चिकित्सा पर 70 पुस्तकों के संग्रह का श्रेय दिया जाता है; हालांकि,अधिकांश विद्वान इस बात से सहमत हैं कि हिप्पोक्रेटिक शपथ स्वयं ऐतिहासिक हिप्पोक्रेट्स के रूप में पहचाने जाने वाले व्यक्ति का काम नहीं हो सकता है।


शेयर करें

Leave a Comment