Thu. May 30th, 2024
7th गंगा उत्सव7th गंगा उत्सव
शेयर करें

सन्दर्भ:

: गंगा उत्सव (Ganga Utsav) के सातवें संस्करण का आयोजन 04 नवंबर 2023 को नई दिल्ली में राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन द्वारा किया गया

गंगा उत्सव से जुड़े प्रमुख तथ्य:

: देशवासियों का नदी के साथ संबंध को मज़बूत करने के लिये NMCG हर वर्ष उत्सव मनाता है।
: इसके तहत एनबीटी के सहयोग से नमामि गंगे पत्रिका के 33वें संस्करण,ई चाचा चौधरी श्रृंखला और गंगा पुस्तक परिक्रमा पर आधारित वॉयेज ऑफ गंगा बुकलेट का विमोचन भी किया गया।
: साथ ही गंगा पुस्तक परिक्रमा के दूसरे संस्करण को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
: गंगा पुस्तक परिक्रमा 7 नवंबर 2023 को गंगोत्री से अपनी 3 महीने लंबी यात्रा शुरू कर, 11 जनवरी 2024 को गंगासागर में अपनी यात्रा समाप्त करेगा।
: उससे पहले यह उत्तरकाशी, ऋषिकेश, हरिद्वार, बिजनौर, मेरठ, अलीगढ़, फर्रुखाबाद, कानपुर, प्रयागराज, मिर्ज़ापुर , वाराणसी, छपरा, पटना, बेगूसराय, सुल्तानगंज, भागलपुर, साहिबगंज, बहरामपुर, कोलकाता और हल्दिया, गंगा नदी के तट पर स्थित सभी शहरों और कस्बों से होकर गुजरेगी।
: इस उत्सव में नदियों का संरक्षण सभी की साझी जिम्मेदारी है पर जोर दिया गया जिससे हमारे देश का सतत विकास जुड़ा हुआ है।
: ज्ञात हो कि 2008 में गंगा को भारत की राष्ट्रीय नदी घोषित किया गया जिसके परिणामस्वरूप राष्ट्रीय गंगा दिवस की शुरुआत हुई।
: गंगा बेसिन में विभिन्न जिला गंगा समितियों द्वारा भी गंगा उत्सव 2023 मनाया गया
: गंगा उत्सव 2023 संगीत, नृत्य, ज्ञान, संस्कृति और संवाद का एक जीवंत मिश्रण रहा।
: वर्ष 2016 में स्थापित NMCG, राष्ट्रीय गंगा परिषद की कार्यान्वयन इकाई है, जिसने राष्ट्रीय गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण (NRGBA) का स्थान लिया है।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *