कृषि में डीजल को बदलने का सरकार का लक्ष्य

शेयर करें

REMEWABLE ENERGY
कृषि में डीजल को बदलने

सन्दर्भ-केंद्रीय ऊर्जा, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार ने 2024 तक कृषि क्षेत्र में डीजल को अक्षय ऊर्जा से बदलने का लक्ष्य रखा है।
प्रमुख तथ्य-:2024 तक कृषि में डीज़ल के स्थान पर रिन्यूएबल एनर्जी के शत-प्रतिशत प्रयोग का लक्ष्य हासिल कर लेगा।
:यह 2030 तक गैर-जीवाश्म ईंधन की हिस्सेदारी बढ़ाने और 2070 तक शुद्ध(नेट जीरो) शून्य उत्सर्जक बनने की सरकार की प्रतिबद्धता के अनुरूप है।
:राज्यों को भी निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने हेतु कार्य योजना विकसित करने का सुझाव दिया गया।
:राज्यों के पास ऊर्जा दक्षता और संरक्षण के लिए समर्पित एक विशिष्ट एजेंसी होनी चाहिए।
:भारत 2024 तक कृषि क्षेत्र में शून्य डीजल उपयोग के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए डीजल को नवीकरणीय ऊर्जा से बदल देगा।
:केंद्र सरकार पहले से ही “कुसुम योजना” के माध्यम से कृषि क्षेत्र को सोलराइज करने की योजना चला रही है,इसके लिए सौर ऊर्जा से चलने वाली सिंचाई प्रणाली की आवश्यकता होगी।
:भारत में गैसोलीन की बिक्री पूर्व महामारी स्तर से काफी अधिक हो गई है जबकि 2021 में डीज़ल की बिक्री 2019 खपत से कम थी।


शेयर करें

Leave a Comment