Wed. Dec 6th, 2023
शेयर करें

UDAN YOJNA
उड़ान (UDAN) योजना के लिए उत्कृष्टता पुरस्कार
Photo:Twitter

सन्दर्भ-गैर-मेट्रो टियर II और III शहरों में हवाई संपर्क प्रदान करने के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय की प्रमुख पहल UDAN योजना को लोक प्रशासन 2020 में उत्कृष्टता के लिए प्रधान मंत्री पुरस्कार के लिए चुना गया है।
प्रमुख तथ्य-21 अप्रैल अर्थात सिविल सेवा दिवस के अवसर पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय इस पुरस्कार को प्राप्त करेगा
:मंत्रालय वर्ष 2026 तक उड़ान क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना (UDAN Regional Connectivity Scheme- RCS) योजना के तहत 1,000 नए हवाई मार्गों के साथ भारत में वर्ष 2024 तक 100 नए हवाई अड्डों का निर्माण करने की योजना बना रहा है।
:अभी तक इस सेवा को कई चरणों में विस्तारित किया गया है,उड़ान 1.0 से उड़ान 4.0 और 4.1 तक।

प्रधान मंत्री पुरस्कार:

:इस पुरस्कार का गठन 2006 में भारत सरकार द्वारा केंद्र और राज्य सरकारों के ज़िलों तथा संगठनों द्वारा किये गए असाधारण एवं नवीन कार्यों को स्वीकार करने,पहचानने और पुरस्कृत करने हेतु किया गया था।
उड़ान (UDAN) योजना के बारे में:
:इस योजना को 2016 में शुरू किया गया था जिसका उद्देश्य देश के दूरस्थ और क्षेत्रीय क्षेत्रों से संपर्क बढ़ाना और हवाई यात्रा को वहनीय बनाना है।
विशेषताएं:
:इसे क्षेत्रीय संपर्क योजना (RCA) के रूप में भी जाना जाता है,क्योंकि यह अप्रयुक्त और कम उपयोग वाले हवाई अड्डों के पुनरुद्धार के माध्यम से टियर -2 और टियर -3 शहरों के लिए हवाई संपर्क में सुधार करना चाहता है।
:कम उपयोग वाले हवाई अड्डों वे होते हैं जिनमें एक दिन में एक से अधिक उड़ानें नहीं होती हैं,जबकि अनारक्षित हवाई अड्डे वे होते हैं जहाँ कोई परिचालन नहीं होता है।
:इस योजना के तहत,उड़ानों में लगभग आधी सीटें रियायती किराए पर दी जाती हैं,और भाग लेने वाली वाहकों को एक निश्चित राशि की व्यवहार्यता अंतर निधि (VGF) प्रदान की जाती है – जिसे केंद्र और संबंधित राज्यों के बीच साझा की जाती है।
:इस योजना को केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा संयुक्त रूप से वित्त पोषित किया जाएगा।
:यह योजना 10 साल तक चलेगी और उसके बाद इसे बढ़ाया जा सकता है।
उड़ान 4.0:
:वर्ष 2020 में देश के दूरस्थ क्षेत्रों में कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिये क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना ‘उड़े देश का आम नागरिक’ (UDAN) के चौथे संस्करण के तहत 78 नए मार्गों के लिये मंज़ूरी दी गई थी।
उड़ान 4.1:
:यह मुख्यतः छोटे हवाई अड्डों,विशेष तौर पर हेलीकॉप्टर और सी-प्लेन मार्गों को जोड़ने पर केंद्रित है,इसके लिए सागरमाला विमान सेवा के तहत कुछ नए मार्ग प्रस्तावित हैं।


शेयर करें

By gkvidya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *