आश्वासन अभियान

शेयर करें

आश्वासन अभियान
आश्वासन अभियान
Photo@PIB

सन्दर्भ:

:टीबी प्रभाग ने 24 अगस्त को राष्ट्रीय जनजातीय अनुसंधान संस्थान (NTRI), नई दिल्ली में ‘जनजातीय टीबी पहल’ के तहत 100 दिवसीय आश्वासन अभियान की विशेषताओं का प्रचार करने के लिए एक राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया।

आश्वासन अभियान के बारें में:

:‘इस अभियान’ के तहत 68,000 से अधिक गांवों में घर-घर जाकर 1 करोड़ से अधिक लोगों की टीबी की जांच की गई।
:जनजातीय टीबी पहल‘ जनजातीय कार्य मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय के केंद्रीय टीबी प्रभाग की एक संयुक्त पहल है।
:इस पहल के दायरे में भारत के 174 जनजातीय जिलों में टीबी के सक्रिय मामलों का पता लगाने के लिए आश्वासन अभियान इस वर्ष 7 जनवरी को महाराष्ट्र के नंदुरबार जिले से शुरू किया गया था।
:आश्वासन अभियान लगभग 2 लाख सामुदायिक प्रभावशाली व्यक्तियों को एक मंच पर लाया है।
:ये आंकड़े यह दर्शाते हैं कि आदिवासी समुदाय अन्य जनसंख्या समूहों की तुलना में श्वसन रोगों और टीबी के प्रति अधिक संवेदनशील हैं।
:आश्वासन अभियान के माध्यम से जो डेटा सामने आया है, उसके साथ CTD टीबी के प्रमुख केंद्रों का मानचित्रण करेगा और उसका शुरुआती बिंदु के रूप में उपयोग करेगा।
:भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर , 75 अधिक बोझ वाले जनजातीय जिलों को आगामी महीनों में ध्यान केंद्रित करने के लिए चुना गया है।


शेयर करें

Leave a Comment