आर्टेमिस-1 का प्रक्षेपण फिर टल गया

शेयर करें

आर्टेमिस-1 का प्रक्षेपण फिर टल गया
आर्टेमिस-1 का प्रक्षेपण फिर टल गया
Photo@Twitter/NASA

सन्दर्भ:

:चंद्रमा पर अपने आर्टेमिस -1 मिशन को अंतरिक्ष एजेंसी नासा को 3 सितंबर 2022 को एक सप्ताह में दूसरी बार  रोकना पड़ा है उसका कारण है एक बार फिर रॉकेट इंजन के टैंकों में ईंधन भरने के दौरान एक तरल हाइड्रोजन रिसाव पाया गया।

आर्टमिस-1 के प्रक्षेपण से जुड़े प्रमुख तथ्य:

:इसी तरह की समस्या ने 29 अगस्त 2022 को लॉन्च होने वाले मिशन को भी निरस्त कर दिया था,उस समय, रॉकेट के चार इंजनों में से एक के अपर्याप्त शीतलन का भी मुद्दा था।
:सप्ताह भर में, नासा के इंजीनियरों ने समस्याओं पर काम किया और सोचा कि उन्होंने इसे ठीक कर लिया है,लेकिन लॉन्च से पहले ईंधन भरने के दौरान तरल हाइड्रोजन रिसाव कई बार हुआ, जिसमें इंजीनियर लगातार अग्निशमन में लगे रहे।
:तीसरी बार लीक सामने आने के बाद, नासा ने लॉन्च को बंद करने का फैसला किया।
:आर्टेमिस -1 को इंटरप्लेनेटरी स्पेस मिशन की एक नई पीढ़ी की शुरुआत माना जाता है, जिसका विशिष्ट उद्देश्य मनुष्यों को चंद्रमा पर वापस लाना है, और फिर अंतरिक्ष में बहुत गहराई से, अन्य ग्रहों पर भी उम्मीद है।
:हालांकि आर्टेमिस-1 में कोई अंतरिक्ष यात्री नहीं है,यह एक खोजपूर्ण मिशन है, जिसका उद्देश्य भविष्य में अधिक महत्वाकांक्षी मिशनों की नींव स्थापित करना है जो चंद्रमा पर स्थायी बेस स्टेशन स्थापित करने की इच्छा रखते हैं।
:अपोलो मिशन के पचास साल बाद पहली बार मानव को चंद्र सतह पर ले गए; चांद पर वापस जाने में अब एक नई दिलचस्पी है।
:इस बार लंबे समय तक रहने, स्थायी ठिकाने स्थापित करने और गहरे अंतरिक्ष अभियानों के लिए लॉन्च पैड के रूप में चंद्रमा का उपयोग करने के इरादे से लांच किया जा रहा है।


शेयर करें

Leave a Comment