आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के कार्यान्वयन को मंजूरी

शेयर करें

AYUSHMAN BHARAT DIGITAL MISSION
आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन

सन्दर्भ-कैबिनेट ने 1,600 करोड़ रुपये के बजट के साथ पांच साल के लिए आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (ABDM)के कार्यान्वयन को मंजूरी दी है।
महत्त्व-ABDM साक्ष्य आधारित निर्णय लेने की सुविधा प्रदान करेगा,नवाचार को बढ़ावा देगा और स्वास्थ्य सेवा इकोसिस्टम में रोजगार के अवसर भी पैदा करेगा।
प्रमुख तथ्य-स्वास्थ्य सेवाओं के राष्ट्रीय स्तर पर विकल्प चयन (पोर्टेबिलिटी) की सुविधा।
:गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य देखभाल तक न्यायसंगत पहुंच में सुधार होगा।
:नागरिक अपना आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता (ABHA) नंबर बना सकेंगे।
:ABHA द्वारा लोगो के डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड को जोड़ा जा सकेगा।
:स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं द्वारा नैदानिक ​​निर्णय लेने में मदद मिलेगी।
:आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (ABDM) विस्तृत डेटा के प्रावधान,सूचना और अवसंरचना सेवाओं के माध्यम से एक आसान ऑनलाइन प्लेटफार्म का निर्माण कर रहा है।
:इसके साथ ही स्वास्थ्य संबंधी व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा,गोपनीयता और निजता भी सुनिश्चित कर रहा है।
:राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA),आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (ABDM) की कार्यान्वयन एजेंसी होगी।
:ABDM की प्रायोगिक परियोजना छह केंद्र शासित प्रदेशों लद्दाख,चंडीगढ़,दादरा और नगर हवेली,दमन और दीव,पुडुचेरी,अंडमान और निकोबार द्वीप समूह तथा लक्षद्वीप में NHA द्वारा विकसित प्रौद्योगिकी प्लेटफार्म के सफल प्रदर्शन के साथ पूरी की गयी है।
:24 फरवरी 2022 तक, 17,33,69,087 आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते बनाए गए हैं।


शेयर करें

Leave a Comment