“अवसर योजना” द्वारा स्थानीय कारीगरों व उत्पादों को बढ़ावा

शेयर करें

AAI-AVASAR YOJANA
“अवसर योजना”
PHOTO:PIB

सन्दर्भ-महिलाओं, कारीगरों व शिल्पकारों की प्रतिभा को प्रोत्साहित करने और उन्हें सही अवसर प्रदान करने के लिए भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (AAI) ने अपने हवाईअड्डों पर स्वयं सहायता समूहों (SHG) को अपने क्षेत्र के स्व-निर्मित उत्पादों की बिक्री/प्रदर्शित करने के लिए स्थान आवंटित करने की पहल की है।
प्रमुख तथ्य-यह भारतीय विमानन प्राधिकरण (AAI) की एक पहल है।
:इस योजना के तहत AAI संचालित हर एक हवाई अड्डे पर 100-200 वर्ग फीट का क्षेत्र निर्धारित किया गया है।
:स्वयं सहायता समूहों को एक-एक कर 15 दिनों की अवधि के लिए यह स्थान आवंटित किया जा रहा है।
:चेन्नई,अगरतला,देहरादून,कुशीनगर,उदयपुर और अमृतसर हवाईअड्डे पर कुछ आउटलेट पहले ही शुरू किए जा चुके हैं।
:इन आउटलेटों पर हवाई यात्रियों को स्थानीय महिलाओं की SHG अपने घर के बने स्थानीय उत्पादों जैसे, मुरमुरे, डिब्बाबंद पापड़, अचार, बांस आधारित लेडीज बैग/बोतल/लैंप सेट,स्थानीय कलाकृतियां,पारंपरिक शिल्प,प्राकृतिक रंग,कढ़ाई और मौजूदा डिजाइन के साथ स्वदेशी बुनाई का प्रदर्शन और विपणन कर रहे हैं।
:कुछ अन्य हवाई अड्डों पर भी इसके क्रियान्वयन की प्रक्रिया जारी है-रांची, कोलकाता, वाराणसी, इंदौर, भोपाल, वड़ोदरा, बेलगावी, मदुरै, कोयंबटूर, कालीकट, सूरत, भुवनेश्वर, रायपुर, सिलचर, डिब्रूगढ़ और जोरहाट शामिल हैं।
:छोटे और ग्रामीण समुदायों को निर्वाह से स्थिरता की ओर बढ़ने को लेकर सशक्त बनाने के लिए स्वयं सहायता समूह भारत के सबसे शक्तिशाली माध्यम हैं।
:AAI हवाई अड्डों पर जगह आवंटित करके SHG को मजबूत करने की यह पहल इन छोटे समूहों को बड़ा मंच प्रदान करेगी और उन्हें अपने उत्पादों को व्यापक रूप से बढ़ावा देने/बाजार में बड़ी आबादी तक पहुंचने के लिए तैयार करेगी।

अवसर योजना-

:AVASAR(अवसर)”(Airport as Venue for Skilled Artisans Of The Region-क्षेत्र के कुशल कारीगरों के लिए स्थान के रूप में हवाईअड्डा) योजना
:इसके तहत आत्मनिर्भरता के लिए अपने परिवारों को कार्यात्मक रूप से प्रभावी स्व-अर्जित समूहों में संगठित करने में जरूरतमंदों की सहायता करने का मौका प्रदान किया गया है।


शेयर करें

Leave a Comment