31st May:आज है “विश्व तंबाकू निषेध दिवस”

शेयर करें

World No Tobaco Day-Vishva Tambaku Nishedh Diwas-2022
31st May:आज है विश्व तंबाकू निषेध दिवस
Photo:सांकेतिक

सन्दर्भ-हर वर्ष 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) के रूप में मनाया जाता है।
वर्ष 2022 की थीम है:

:”Protect The Environment

इस दिवस का उद्देश्य है:
:तंबाकू कंपनियों की व्यावसायिक प्रथाओं पर ध्यान आकर्षित करना।
प्रमुख तथ्य-:यह 1987 में WHO द्वारा लोगों के स्वास्थ्य, समुदायों और पर्यावरण को तंबाकू उत्पादों से होने वाले नुकसान के बारे में
:जागरूकता बढ़ाने के लिए बनाया गया था।
:तंबाकू उत्पाद से 20 तरह के कैंसर होते हैं।
:तंबाकू के कारण होने वाली मौतों और बीमारियों के अलावा तंबाकू देश के आर्थिक विकास को भी बहुत अधिक प्रभावित करता है।
:ई-सिगरेट में तंबाकू नहीं होता है लेकिन ये स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती हैं और सुरक्षित नहीं होती हैं।
भारत में तंबाकू की रोकथाम में किये गए उपायः
:भारत ने ‘WHO फ्रेमवर्क कन्वेंशन ऑन टोबैको कंट्रोल‘ (WHO FCTC) के अंतर्गत तंबाकू नियंत्रण प्रावधानों को अपनाया है।
:सिगरेट एवं अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम, (COTPA) 2003 बनाया गया है।
:इसके तहत वर्ष 1975 के सिगरेट अधिनियम को प्रतिस्थापित किया गया।
:वर्ष 2003 के अधिनियम के अनुसार तंबाकू में सिगार, बीड़ी,चुरूट,पाइप तंबाकू,हुक्का, चबाने वाला तंबाकू,पान मसाला और गुटखा को भी शामिल किया गया।
:जबकि 1975 के एक्ट में गैर-सिगरेट उत्पादों को शामिल नहीं किया गया था।
:भारत सरकार ने 11वीं पंचवर्षीय योजना के समय वर्ष 2007-08 में राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम (NTCP) शुरू करवाया था।
WHO फ्रेमवर्क कन्वेंशन ऑन टोबैको कंट्रोल (WHO FCTC):
:विभिन्न देशों की सरकारों द्वारा WHO FCTC के तंबाकू नियंत्रण प्रावधानों को अपनाया गया है और लागू किया गया है।
:यह WHO के तत्वावधान में शुरू की गई पहली अंतर्राष्ट्रीय संधि है।
:इसे 21 मई, 2003 को विश्व स्वास्थ्य सभा (WHO की शीर्ष निर्णयन संस्था) द्वारा अपनाया गया था और यह 27 फरवरी, 2005 को लागू हुई थी।
:तंबाकू के उपयोग को रोकने के लिये FCTC के उपायों में शामिल हैं:
1-मूल्य और कर उपाय।
2-तंबाकू के विपणन पर प्रतिबंध।
3-तंबाकू छोड़ने वालों का समर्थन करना।
4-तंबाकू उद्योग के हस्तक्षेप को रोकना
5-तंबाकू पैकेजों पर बड़ी ग्राफिक चेतावनियाँ।
6-शत-प्रतिशत धूम्रपान मुक्त सार्वजनिक स्थान।


शेयर करें

Leave a Comment