स्पेसएक्स ने फाल्कन-9 रॉकेट को लॉन्च किया

शेयर करें

SAPCE X FALCON-9 LAUNCH
फाल्कन-9 रॉकेट सफलता पूर्वक लांच

चर्चा का कारण- चर्चा का कारण- दुनिया के सबसे आमिर व्यक्ति एलेन मस्क की एयरोस्पेस कंपनी स्पेस एक्स ने फ्लोरिडा के केप कैनावेरल स्पेस फोर्स स्टेशन से एक पेलोड के रूप में 48 स्टरलिंक इंटरनेट उपग्रहों के साथ दो ब्लैक स्काई को ले जाने वाले फाल्कन-9 रॉकेट को सफलता पूर्वक लांच किया। 

स्पेसएक्स का उद्देश्य

:स्पेसएक्स के स्टारलिंक मेगाकॉन्स्टेलेशन को वैश्विक स्तर पर उपयोगकर्ताओं को उच्च गति के इंटरनेट कवरेज प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, विशेष रूप से दूरस्थ और ग्रामीण क्षेत्रों में जिनके पास पारंपरिक इंटरनेट कनेक्शन तक पहुंच नहीं है।
:आज तक, स्पेसएक्स ने लगभग 1,900 फ्लैट-पैनल वाले ब्रॉडबैंड उपग्रहों को लॉन्च किया है,जबकि 2021 में केवल 900 उपग्रह ही लॉन्च किया गया है।
:कंपनी के पास 30,000 और उपग्रहों के लिए मंजूरी है,जिसमें 42,000 तक के विकल्प हैं।
प्रमुख तथ्य-आज की उड़ान कंपनी के हाल ही में अपग्रेड किए गए स्टारलिंक इंटरनेट उपग्रहों का तीसरा बैच है,जिसमें 48 स्टारलिंक उपग्रहों के संग्रह के साथ दो पृथ्वी-अवलोकन उपग्रहों ब्लैकस्काई के साथ एक साझा सवारी करेगा।
:दोनो ब्लैकस्काई उपग्रह लिफ्टऑफ के लगभग एक घंटे बाद रॉकेट के ऊपरी चरण से सफलतापूर्वक अलग हो गए,जबकि 48 स्टारलिंक उपग्रह लगभग आधे घंटे बाद अलग हो गए।
:यह मिशन ब्लैकस्काई के लिए दूसरे राइडशेयर मिशन को चिह्नित करता है, और दो ऑप्टिकल उपग्रहों में से प्रत्येक का वजन लगभग 121 पाउंड (55 किलोग्राम) है।
:फाल्कन 9 रॉकेट,जो आंशिक रूप से पुन: प्रयोज्य(Reusable) है, ने अपने पहले चरण के बूस्टर को कई मिशनों के हिस्से के रूप में अंतरिक्ष में लॉन्च किया है, जिसमें से पांच स्टारलिंक मिशन भी शामिल हैं।

भारत सरकार का पक्ष

:सरकार ने जनता से अपील किया था कि वे स्टरलिंक इंटरनेट सेवा से दूर रहे क्यों कि अभी तक सरकार ने सैटेलाइट इंटरनेट सेवा के लिए कोई भी लाइसेंस नहीं दिया है।
:हालाँकि कंपनी इंटरनेट सेवा देने की पूरी तैयारी कर चुकी है तथा इसके सब्सक्रिप्शन प्रक्रिया भी आरम्भ कर चुकी है।
:DoT ने कहा है कि कंपनी को सब्सक्रिप्शन प्रक्रिया से पहले रेगुलेटरी फ्रेमवर्क के तहत मंजूरी आवश्यक था,जिसके बाद पोर्टल बंद कर दिया गया था।
:परन्तु अब कंपनी ने कहा है कि 31 जनवरी 2022 से पहले लाइसेंस से जुडी सारी जरुरी प्रक्रियाएं पूरी कर ली जाएँगी।
:और दिसंबर 2022 तक कंपनी दो लाख उपकरणों को देश के विभिन्न हिस्सों में स्थापित कर देगी।


शेयर करें

Leave a Comment