लुंबिनी में भारत अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध संस्कृति और विरासत केंद्र का शिलान्यास

शेयर करें

लुंबिनी में भारत अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध संस्कृति और विरासत केंद्र का शिलान्यास
लुंबिनी में भारत अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध संस्कृति और विरासत केंद्र का शिलान्यास
Photo:Twitter

सन्दर्भ-प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने नेपाल के माननीय प्रधानमंत्री श्री शेर बहादुर देवबा के साथ लुंबिनी मठ क्षेत्र,लुंबिनी,नेपाल में भारत अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध संस्कृति और विरासत केंद्र (International Centre for Buddhist Culture and Heritage) के निर्माण के लिए शिलान्यास किया।
प्रमुख तथ्य-इस केंद्र का निर्माण अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध संघ (IBC), नई दिल्ली द्वारा लुंबिनी डेवलपमेंट ट्रस्ट (LDT) के एक भूखंड पर किया जायेगा।
:इस भूमि का आवंटन आईबीसी और एलडीटी के बीच मार्च, 2022 में हस्ताक्षरित एक समझौते के तहत आईबीसी को किया गया था।
:शिलान्यास समारोह,जिसे तीन प्रमुख बौद्ध परंपराओं,थेरवाद, महायान और वज्रयान के भिक्षुओं द्वारा किया गया,के बाद दोनों प्रधानमंत्रियों ने केंद्र के एक मॉडल का भी अनावरण किया।
:निर्माण पूरा हो जाने के बाद, यह दुनिया भर के तीर्थयात्रियों और पर्यटकों का स्वागत करने वाला एक विश्व स्तरीय सुविधा केंद्र होगा,जहाँ श्रद्धालु बौद्ध धर्म के आध्यात्मिक स्वरूपों के सार का आनंद प्राप्त कर पाएंगे।
:यह एक आधुनिक इमारत होगी,जो ऊर्जा,पानी और अपशिष्ट प्रबंधन के मामले में नेटज़ीरो के मानकों के अनुरूप होगी तथा इस केंद्र में प्रार्थना कक्ष,ध्यान केंद्र,पुस्तकालय,प्रदर्शनी हॉल,कैफेटेरिया, कार्यालय और अन्य सुविधाएं भी होंगी।


शेयर करें

Leave a Comment