राष्ट्रीय जनजातीय अनुसंधान संस्थान का शुभारम्भ

शेयर करें

RASHTRIYA JANJATIYA ANUSANDHAN SANSTHAN KA UDGHATAN
राष्ट्रीय जनजातीय अनुसंधान संस्थान का शुभारम्भ
Photo:PIB

सन्दर्भ-केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने 7 जून 2022 को नई दिल्ली में राष्ट्रीय जनजाति अनुसंधान संस्थान (National Tribal Research Institute) का शुभारम्भ किया।
प्रमुख तथ्य-इसका आयोजन आजादी का अमृत महोत्सव के तहत आदिवासी कार्य मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है।
:जनजातीय समाज की विविधताओं को जोड़ने के लिए कोई राष्ट्रीय लिंक नहीं था जो अब इसी लिंक का काम करेगा।
:स्वतंत्रता के बाद पहली बार जनजातीय गौरव दिवस का ऐलान भी किया और इसे मनाया।
:NTRI (National Tribal Research Institutes) का उद्घाटन जनजातीय कार्य मंत्रालय की एक ऐतिहासिक पहल है और आदिवासियों के संस्थागत विकास और उनके कल्याण का एक नया अध्याय है।
:राज्य टीआरआई के साथ एनटीआरआई नीति निर्माण को मजबूत बनाने में सहायक होगा।
:30 लाख जनजातीय छात्रों को मंत्रालय के डिजिटल तंत्र से छात्रवृत्ति दी जा रही है।
:एनटीआरआई जनजातीय आबादी के लिए जमीनी स्तर पर योजनाओं, कार्यक्रमों और नीतियों के परिणाम आधारित क्रियान्वयन के लिए काम करेगा।
:सबसे प्रमुख अनुसंधान संस्थान विभिन्न स्तरों पर नीतिगत अंतर को दूर करने में सहायता के लिए जरूरी जानकारियां प्रदान करेगा,इससे जनजातीय समाज में जमीनी स्तर पर बदलाव लाना संभव होगा।
:एनटीआरआई एक प्रतिष्ठित और शीर्ष स्तर का राष्ट्रीय संस्थान है एवं यह शैक्षणिक,कार्यकारी और विधायी क्षेत्रों में जनजातीय चिंताओं,मुद्दों और मामलों का केंद्र बन जाएगा।
:यह प्रतिष्ठित अनुसंधान संस्थानों,विश्वविद्यालयों,संगठनों के साथ ही शैक्षणिक संगठनों और संसाधन केंद्रों के साथ भागीदारी करेगा और नेटवर्क बनाएगा।
:यह जनजातीय अनुसंधान संस्थानों (TRI),उत्कृष्टता केंद्रों (COE),NFS के शोध छात्रों की परियोजनाओं की निगरानी भी करेगा और अनुसंधान एवं प्रशिक्षण की गुणवत्ता में सुधार के लिए मानक तय करेगा।


शेयर करें

Leave a Comment