यूपी निवेशक शिखर सम्मलेन @3.0 में शामिल हुए,प्रधानमंत्री

शेयर करें

UP NIVESHAK SHIKHAR SAMMELAN@3.0 Ground Breaking Ceremoney
यूपी निवेशक शिखर सम्मलेन @3.0 में शामिल हुए,प्रधानमंत्री
Photo:Social Media

सन्दर्भ-प्रधानमंत्री लखनऊ में यूपी निवेशक शिखर (UP Investors Summit) सम्मलेन @3.0 के ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह (Ground Breaking Ceremony) में शामिल हुए।
प्रमुख तथ्य-80,000 करोड़ रुपये से अधिक की 1406 परियोजनाओं (Projects) का शिलान्यास किया।
:यूपी निवेशक शिखर सम्मलेन 2018; 21-22 फरवरी, 2018 को आयोजित किया गया था।
:उत्तर प्रदेश के तेज विकास के लिए सरकार अवसंरचना,निवेश और विनिर्माण पर राज्य से मिलकर काम कर रही है।
:ये परियोजनाएं कृषि और संबद्ध क्षेत्र,आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स एमएसएमई,विनिर्माण,नवीकरणीय ऊर्जा,फार्मा,पर्यटन,रक्षा और एयरोस्पेस,हथकरघा और कपड़ा इत्यादि से जुडी है।
:इस वर्ष के बजट में 7.50 लाख करोड़ रुपये के पूंजीगत व्यय का अभूतपूर्व आवंटन इसी दिशा में एक कदम है।
:इस समारोह में देश के उद्योग जगत की प्रमुख हस्तियों ने भाग लिया।
:भारत, जी20 अर्थव्यवस्थाओं में सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है और वैश्विक खुदरा सूचकांक में दूसरे नंबर पर है।
:भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा ऊर्जा उपभोक्ता देश है।
:पिछले साल दुनिया के 100 से ज्यादा देशों से रिकॉर्ड 84 अरब डॉलर का एफडीआई आया था।
:भारत ने पिछले वित्त वर्ष में 417 अरब डॉलर यानी 30 लाख करोड़ रुपये से अधिक के माल का निर्यात कर नया रिकॉर्ड बनाया है।
:एक देश – एक टैक्स,जीएसटी; एक देश – एक ग्रिड; एक देश – एक मोबिलिटी कार्ड; एक देश – एक राशन कार्ड,यह सरकार की ठोस और स्पष्ट नीति है।
:बेहतर कानून-व्यवस्था की स्थिति से कारोबारी समुदाय में विश्वास मज़बूत हुआ है, उद्योग के लिए एक उचित माहौल बना है और राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था में सुधार हुआ है।
:उत्तर प्रदेश में देश की कुल आबादी का पांचवां या छठा हिस्सा रहता है,इसलिए देश के विकास पर इसका बहुत बड़ा असर पड़ता है।
:इस साल के बजट में गंगा के दोनों किनारों पर 5 किलोमीटर के क्षेत्र के लिए रसायन मुक्त प्राकृतिक कृषि गलियारे की घोषणा की गई है।
:उत्तर प्रदेश में गंगा नदी का मार्ग 1100 किमी लम्बा है और यह 25-30 जिलों को कवर करती है,इससे प्राकृतिक खेती के बड़े अवसर पैदा होंगे।
:PLI योजनाओं और पूंजीगत व्यय के लिए 7.5 लाख करोड़ रुपये के आवंटन से भी राज्य को लाभ होगा।
:आधुनिक पावरग्रिड,गैस पाइपलाइन, मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी,एक्सप्रेसवे की रिकॉर्ड संख्या,आर्थिक क्षेत्रों की कनेक्टिविटी को मजबूत करना,आधुनिक रेलवे अवसंरचना,पूर्वी और पश्चिमी समर्पित फ्रेट कॉरिडोर जैसे कदमों की उत्तर प्रदेश में मौजूदगी से राज्य के विकास को नयी गति मिल रही है।
:2014 में देश में केवल 65 मिलियन ब्रॉडबैंड ग्राहक थे,आज इनकी संख्या 78 करोड़ को पार कर गई है।
:2014 में, देश के 100 से भी कम ग्राम पंचायत ऑप्टिकल फाइबर से जुड़े थे,और आज ऑप्टिकल फाइबर से जुड़े ग्राम पंचायतों की संख्या भी ढाई लाख को पार कर गई है।
:2014 से पहले,हमारे पास केवल कुछ सौ स्टार्ट-अप थे,लेकिन आज देश में पंजीकृत स्टार्ट-अप की संख्या भी 70 हजार के करीब पहुंच रही है।
:हाल ही में भारत ने भी 100 यूनिकॉर्न का रिकॉर्ड बनाया है।


शेयर करें

Leave a Comment