मुंबई इंटरनेशनल क्रूज टर्मिनल जुलाई 2024 तक चालू होगा

शेयर करें

Mumbai International Cruise Terminal
मुंबई इंटरनेशनल क्रूज टर्मिनल
PHOTO:PIB

सन्दर्भ-495 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले प्रतिष्ठित समुद्री क्रूज टर्मिनल – मुंबई इंटरनेशनल क्रूज टर्मिनल के जुलाई 2024 तक चालू होने की संभावना है।
प्रमुख तथ्य-यह टर्मिनल बीपीएक्स-इंदिरा डॉक पर बनकर तैयार होगा।
:टर्मिनल में प्रति वर्ष 200 जहाजों और 1 मिलियन यात्रियों की आवाजाही को संभालने की क्षमता होगी।
:मुंबई पोत प्राधिकरण और निजी ऑपरेटरों द्वारा सागरमाला कार्यक्रम के तहत किया जाएगा।
:यह भारत में अपनी तरह का पहला प्रतिष्ठित समुद्री क्रूज टर्मिनल होगा।
:डॉक पर एक बार में दो क्रूज जहाजों को जगह मिलेगी।
:मुंबई पोर्ट पर घरेलू और अंतर्राष्‍ट्रीय क्रूज सेवा मुख्य गतिविधि होने की उम्मीद है।
:भारत को एक क्रूज गंतव्य के रूप में स्थापित करने के लिए एक क्रूज कॉन्फ्रेंस की योजना बनाई जा रही है।
:इसका उद्देश्य है मुंबई,गोवा,कोच्चि जैसे बंदरगाहों और पूर्वी तट पर बंदरगाहों को देश के क्रूज हब के रूप में स्थापित करना है।

कान्होजी आंग्रे लाइटहाउस डेवलपमेंट-

:क्रूज़ पर्यटन के दायरे को बढ़ाने और अंतर्राष्‍ट्रीय यात्रियों को आकर्षित करने के उद्देश्य से,लाइटहाउस पर्यटन योजना के तहत कान्होजी आंग्रे द्वीप को विकसित किया जा रहा हैं।
:इसे मार्च 2023 तक पूरा किए जाने की संभावना है।

सागरमाला परियोजना-

:यह एक महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय पहल है जिसका उद्देश्य भारत के समुद्र तट और जलमार्ग की पूरी क्षमता को अनलॉक करके भारत के रसद क्षेत्र के निष्पादन में एक अगला कदम उठाना है।
:इसका दृष्टिकोण अनुकूलित बुनियादी ढांचा निवेश के साथ घरेलू और निर्यात-आयात कार्गो दोनों के लिए रसद लागत को कम करना है।
:सागरमाला परियोजना के तहत भीड़भाड़ को कम करने के लिए मछली पकड़ने का बंदरगाह विकसित करने की योजना बनाई जा रही हैं।
:सागरमाला द्वारा वित्तपोषित पीरपाऊ में एक तीसरे रासायनिक बर्थ का निर्माण किया जा रहा है।


शेयर करें

Leave a Comment