भारत लांच करेगा “हरित हाइड्रोजन नीति (GHP)”

शेयर करें

GREEN HYDROGEN POLICY
भारत लांच करेगा हरित हाइड्रोजन नीति

सन्दर्भ-भारत “हरित हाईड्रोजन नीति (GHP)” के पहले भाग को इस सप्ताह लांच करेगा।
उद्देश्य-देश में हरित हाइड्रोजनउत्पादन को बढ़ावा देना।
प्रमुख तथ्य-इस भाग में ऐसे घटक शामिल होंगे जिन्हे सरकार तुरंत लागू करेगी।
:ज्ञात हो कि सरकार ने 2021 में हरित हाइड्रोजन और स्वच्छ ऊर्जा को बढ़ावा देने हेतु राष्ट्रीय हाइड्रोजन मिशन की घोषणा की थी।
:रिन्युएबल दायित्वों (renewable purchase obligations) में अब पवन,सौर,जलविद्युत के अलावा बैटरी स्टोरेज को शामिल किया जाएगा।
नीति के नियम-:कंपनियों को कही भी अक्षय ऊर्जा क्षमता स्थापित करने की छूट होगी।
:हरित हाइड्रोजन और हरित अमोनिया का उपयोग जरुरी होगी।
:अधिक हरित हाइड्रोजन उत्पादन को 30 दिनों तक भण्डारण करना होगा।
:हरित हाइड्रोजन उत्पादको को 2025 से पहले स्थापित अक्षय ऊर्जा परियोजनाओं के लिए मुफ्त बिजली संचरण की अनुमति दी जाएगी।
क्या है हरित हाइड्रोजन-:इसका निर्माण अक्षय ऊर्जा का उपयोग करके इलेक्ट्रोलाइसिस विधि द्वारा किया जाता है।
:यह विधि पानी में ऑक्सीजन से हाईड्रोजन अलग करने के लिए विद्युत् प्रवाह का उपयोग किया जाता है।
:हाइड्रोजन का उपयोग ईंधन सेल और और आतंरिक दहन इंजन दोनों के लिए किया जा सकता है।


शेयर करें

Leave a Comment