भारत ने टूटे चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगाया

शेयर करें

भारत ने टूटे चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगाया
भारत ने टूटे चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगाया

संदर्भ:

:भारत ने टूटे चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है और बासमती को छोड़कर चावल के विभिन्न ग्रेड के निर्यात पर 20% शुल्क लगाया है।

टूटे चावल पर क्यों लगाया है प्रतिबन्ध:

:चालू खरीफ मौसम में धान के रकबे में 6% से अधिक की कमी आई है और चावल की कीमतों में वृद्धि हुई है।

चावल से जुड़े प्रमुख तथ्य:

:भारत चावल का दुनिया का सबसे बड़ा निर्यातक है।
:भारत सालाना 20-22 मिलियन टन चावल का निर्यात करता है जिसमें 4 मिलियन टन बासमती चावल शामिल है।
:इससे पहले, मई में भारत ने गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था।
:चावल उत्पादन के लिए जरुरी तापमान उच्च आर्द्रता के साथ 22- 32 डिग्री C
:चावल के आवश्यक बरसात 150 -300 cm.
:मुख्य उत्पादक राज्य है -पश्चिम बंगाल,पंजाब,उत्तर प्रदेश,आंध्र प्रदेश, बिहार


शेयर करें

Leave a Comment