बैंकिंग परीक्षा के लिए तैयारी कैसे करें

शेयर करें

 बैंकिंग परीक्षा के बारे में

भारत में सबसे तेजी से बढ़ते उद्योगों में से एक बैंकिंग है जिसे  भारतीय अर्थव्यवस्था का रीढ़ माना जाता है,इसके अलावा, सरकार अपनी वित्तीय समावेशन योजना के तहत हर गांव और कस्बो में बैंकिंग सुविधाएं प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। और इसलिए, देश के हर हिस्से में बैंकों की अधिक से अधिक शाखाएँ खोली जा रही हैं,चूंकि यह क्षेत्र बहुत तेजी से बढ़ रहा है,इसलिए इसे विभिन्न स्तरों पर जनशक्ति की भी आवश्यकता है और अनिवार्य रूप से बैंक क्षेत्र में विन्न पदों के लिए अधिक से अधिक श्रम शक्ति की आवश्यकता है.

आज भी युवाओं में बैंक में करियर को लेकर काफी रुझान देखा जा सकता है क्योंकि अवसर की प्राप्ति के साथ बेहतर करियर संभावनाएं है जो उन्हें मेहनत करने पर विवश कर देती है और करे भी क्यों न बैंक सबसे बड़ी संश्था के रूप में जानी जाती है नौकरी देने के मामले में ऐसे में उन्हें एक बेहतर अवसर के साथ स्थायी और लम्बा करियर,अच्छा वेतन,अन्य परिलब्धियों के साथ समाज में प्रतिष्ठा प्रदान करती है।

आपके करियर को बहुआयामी बनाने के लिए बैंक शैक्षणिक स्तर के आधार पर कई प्रकार के पदों के लिए आवेदन मांगे जाते है जो कि व्यक्तिगत रूप से बैंक तथा एक संस्था IBPS द्वारा अधिसूचना जारी किया जाता है,यह भर्ती निम्न स्तरों पर होती है: जैसे-

बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर (बैंक पीओ): यह एक बैंक में प्रबंधकीय पद है। आवश्यक रूप से 1 से 2 साल के प्रशिक्षण के बाद, उम्मीदवारों को सहायक प्रबंधक (एएम) या उप प्रबंधक (डीएम) के रूप में नामित/चयनित किया जाता है।जो कि एक प्रबंधकीय पद होता है तथा आगे चलकर इनको निदेशक तक बनाया जाता है।

विशेषज्ञ अधिकारी (एसओ): बैंक विशेषज्ञ प्रोफाइल के लिए भी उम्मीदवारों को नियुक्त करते हैं जैसे – आईटी अधिकारी, मानव संसाधन अधिकारी, विपणन अधिकारी, वित्त अधिकारी, विधि अधिकारी, कृषि अधिकारी आदि। आमतौर पर, विशेषज्ञ अधिकारी को भी  परिवीक्षाधीन अधिकारी की तरह ही वेतक भत्ते एवं अन्य परिलब्धियां प्राप्त होती है।

बैंक क्लर्क: जैसा कि नाम से पता चलता है, यह बैंक में एक लिपिक पद है और इसे बैंक में प्रवेश स्तर की नौकरी के रूप में माना जा सकता है,बैंक के रोजमर्रा के कामकाज में इनकी भूमिका सबसे अधिक और महत्पूर्ण होती है।

इन पदों पर हर वर्ष देश के विभिन्न बैंक विभिन्न पदों के लिए 1 लाख से भी अधिक उम्मीदवारों की भर्ती करते हैं।अतः यह कहा जा सकता है कि सरकारी क्षेत्र में रोजगार के मामले में,बैंकिंग सबसे आकर्षक क्षेत्र है।

कुछ बैंक है जो नियमित रूप भर्ती के लिए परीक्षा लेते है– भारतीय स्टेट बैंक,भारतीय रिजर्व बैंक,नाबार्ड,सिडबी पीएसयू बैंक: इलाहाबाद बैंक,बैंक ऑफ बड़ौदा,पंजाब नेशनल बैंक व अन्य।

हालांकि विलय के बाद अब रिक्तियां कैसी रहती है तथा परीक्षाओं के लिए अधिसूचना का पैटर्न कैसा रहेगा यह प्रारंभिक अवस्था में देखने योग्य होगा।

यहाँ हम कुछ आवश्यक परीक्षाओं का वर्णन करेंगे

आईबीपीएस पीओ/कलर्क-यह बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (आईबीपीएस) द्वारा 20 पीएसयू बैंकों के लिए प्रोबेशनरी ऑफिसर और लिपिक संवर्गों में भर्ती के लिए सामान्य परीक्षा आयोजित करता है।

आईबीपीएस विशेषज्ञ अधिकारी (आईबीपीएस एसओ): यह बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (आईबीपीएस) द्वारा 20 पीएसयू बैंकों के लिए विपणन अधिकारी, आईटी अधिकारी, मानव संसाधन अधिकारी आदि जैसे विशेषज्ञ अधिकारियों की भर्ती के लिए आयोजित एक आम परीक्षा है।

आईबीपीएस क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक परीक्षा: बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (आईबीपीएस) द्वारा प्रोबेशनरी ऑफिसर, लिपिक और विशेषज्ञ अधिकारियों के पदों के लिए भारत के सभी क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (आरआरबी) के लिए एक सामान्य लिखित परीक्षा आयोजित किया जाता है।

एसबीआई प्रोबेशनरी ऑफिसर: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया प्रोबेशनरी ऑफिसर और लिपिक संवर्गों की भर्ती के लिए अपनी परीक्षा आयोजित करता है।

आरबीआई ग्रेड बी परीक्षा: भारतीय रिजर्व बैंक अखिल भारतीय परीक्षा के माध्यम से अधिकारियों (ग्रेड बी) की भर्ती करता है। वैसे इसमें बहुत कम नौकरियां आती हैं,परन्तु आरबीआई के साथ काम करने के अपने फायदे और भविष्य की संभावनाएं हैं।

आरबीआई सहायक परीक्षा: RBI अखिल भारतीय परीक्षा के माध्यम से लिपिक संवर्गों की भर्ती करता है।

परन्तु आज हम विशेष तौर पर  IBPS प्रोबेशनरी अधिकारी परीक्षा के बारे में चर्चा करेंगे परन्तु उससे पहले थोड़ी सी जानकारी हम IBPS के बारे में भी लेंगे

क्या है IBPS-

इसे इंस्टिट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सनल सेलेक्शन कहते है इसकी स्थापना 1975 में की गयी थी यह विभिन्न बैंको द्वारा मांगे गए पदों के अनुशार हर वर्ष प्रोबेशनरी ऑफिसर्स,विशेषज्ञ अधिकारीयों और क्लर्को की भर्ती परीक्षा का आयोजन करता है,इसे कर्मचारियों की नियुक्ति की जिम्मेदारी दी गयी है।जैसे-

IBPS PO परीक्षा-

बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (आईबीपीएस) ने प्रोबेशनरी ऑफिसर (पीओ) / मैनेजमेंट ट्रेनी (एमटी) के पद के लिए हर वर्ष अधिसूचना के माध्यम से आवेदन की मांग करता है जिस में देश भर के युवा ऑनलाइन प्रोसेस द्वारा आवेदन करते है जिसमे रिक्तियों की संख्या हज़ारों में होती है तथा इसके माध्यम से ही देश के 11 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंको में पीओ/एमटी के रूप में नियुक्ति की जाती है।

इसा वर्ष भी आवेदन के लिए अधिसूचना जारी कर दी गयी है 19 अक्टूबर को ही, जिसमे आवेदन की अंतिम तिथि ऑनलाइन माध्यम से 10 नवंबर तक है।

कुल 4,135 रिक्तियों को भरने के लिए प्रीलिम्स परीक्षा 4 और 11 दिसंबर को और मुख्य परीक्षा जनवरी 2022 में आयोजित की जाएगी,तथा साक्षात्कार फरवरी/मार्च 2022 में आयोजित किया जाएगा।

आईबीपीएस पीओ भर्ती,पात्रता मानदंड, महत्वपूर्ण तिथियां,रिक्तियां,चयन प्रक्रिया,तैयारी युक्तियाँ,और कई अन्य कई  विवरण पर यहाँ जानने की कोशिश करेंगे

कब आती है अधिसूचना-

सामान्य रूप से वर्ष में एक बार ही अधिसूचना जारी की जाती है,अभी 19 अक्टूबर 2021 को अधिसूचना जारी कर दी गयी है।

 आईबीपीएस पीओ पात्रता मानदंड-

आईबीपीएस द्वारा आयु,शैक्षिक योग्यता और राष्ट्रीयता के अनुसार पात्रता मानदंड निर्धारित किए गए हैं। परीक्षा के लिए आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को पूरा करना होगा:

राष्ट्रीयता/नागरिकता: कोई भी उम्मीदवार जो भारत का नागरिक है या नेपाल/भूटान का विषय है,आईबीपीएस पीओ परीक्षा में बैठने के लिए पात्र है। साथ ही, जो उम्मीदवार तिब्बती शरणार्थी हैं और 1 जनवरी, 1962 से पहले भारत आए हैं और आईबीपीएस पीओ पात्रता मानदंड को पूरा करते हैं,वे भी आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा,भारतीय मूल के लोग जो भारत में स्थायी रूप से बसने के इरादे से पाकिस्तान/बर्मा/श्रीलंका/केन्या/युगांडा/संयुक्त गणराज्य तंजानिया/जाम्बिया/मलावी/ज़ायर/इथियोपिया/वियतनाम से चले गए हैं, वे भी पात्र हैं।

आयु सीमा: उम्मीदवारों की आयु 1 अक्टूबर 2021(वर्तमान के अनुसार) को 20 से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए। विभिन्न श्रेणियों को सरकारी नियम के अनुसार आयु में छूट नीचे दी गई है।

अन्य पिछड़ा वर्ग को(OBC) –3 वर्ष की छूट (नॉन क्रीमिलेयर )

अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति के लिए –5 वर्ष की छूट

दिव्यांगजनों के लिए –10 वर्ष की छूट का प्रावधान है

शैक्षिक योग्यता: उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्विद्यलय से न्यूनतम 50% अंको के साथ भी स्नातक डिग्री होनी जरुरी है।अंतिम वर्ष के स्नातक उम्मीदवारों को आईबीपीएस पीओ परीक्षा में भाग लेने की अनुमति नहीं है।

IBPS में आवेदन की प्रक्रिया-

उम्मीदवार, ऑनलाइन आवेदन कर सकते है आवेदन करने से पहले उन्हें कुछ दस्तावेजों को तैयार कर लेना चाहिए

  • एक वैध ईमेल आईडी
  • फोटो और हस्ताक्षर निर्धारित आकार में स्कैन किया हुआ
  • ऑनलाइन फी भुगतान के लिए डेबिट/क्रेडिट कार्ड/नेट बैंकिंग
  • अब निम्न चरणों के आधार पर ऑनलाइन आवेदन करते जाये
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ
  • होम पेज पर दिए गए भर्ती परीक्षा के लिंक पर क्लिक करें
  • फिर नई रजिस्ट्रशन पर क्लिक करके अपनी डिटेल्स को भरें
  • फिर स्कैन किये हुए फोटो और हस्ताक्षर को अपलोड करे

इसके बाद मांगे गए डॉक्युमेंट्स को भी अपलोड करते जाये और सब्मिट करें

शीघ्र ही आपको आपके मेल पर रजिस्ट्रेशन आईडी और पासवर्ड प्राप्त होगा

फिर परीक्षा केंद्र का चुनाव करे

अब मांगे गए फीस का भुगतान करके आवेदन का प्रिंट निकल ले

2021 में आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करें-

https://ibpsonline.ibps.in/crppo11jul21/ 

आवेदन शुल्क कितना होता है- 

अधिसूचना में श्रेणीवार आवेदन शुल्क कि मांग की जाती है जिसका भुगतान ऑनलाइन ही करना होता है अधिक जानकारी के लिए जारी अधिसूचना का अवलोकन अवश्य करें।

सामान्य तौर पे-

सामान्य और ओ बी सी के लिए                 Rs 850

SC/ST/PWD                                        Rs 175

 

आईबीपीएस पीओ में  रिक्तियो की संख्या –

समयानुसार रिक्तियों की संख्या अलग अलग रहती है 2018-2019  जहाँ रिक्तियों  संख्या 4252 थीं वही क्रमशः 4336 और 4799 थी जबकि 2021-2022 में यह 4135 है।

आईबीपीएस पीओ परीक्षा तिथि-सामान्यतः IBPS वार्षिक रूप से जारी करता है इस बार भी संशोधित कैलेंडर के अनुसार आधिकारिक रूप से 19 अक्टूबर 2021 को आवेदन कि महत्वपूर्ण तिथियों के साथ जारी किया गया है।

आईबीपीएस पीओ भर्ती-

परिवीक्षाधीन अधिकारियों (पीओ) और प्रबंधन प्रशिक्षुओं (एमटी) की भर्ती हर साल एक सामान्य भर्ती प्रक्रिया (सीआरपी) के माध्यम से की जाती है, जिसे आमतौर पर आईबीपीएस पीओ परीक्षा के रूप में जाना जाता है। सीआरपी 2011 में शुरू किया गया था और इस साल 11वीं बार आयोजित किया जा रहा है और इसलिए आधिकारिक तौर पर आईबीपीएस पीओ / एमटी सीआरपी  परीक्षा कहा जाता है।

आईबीपीएस पीओ चयन प्रक्रिया में 3 चरण होते हैं प्रारंभिक परीक्षा,मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार जिसमे उम्मीदवार को अर्हता प्राप्त करनी आवश्यक ताकि  प्रत्येक अगले चरण के लिए आगे बढ़ा जा सके।

आईबीपीएस पीओ भर्ती प्रक्रिया के महत्वपूर्ण चरण नीचे उल्लिखित हैं:

प्राथमिक चरण:ऑनलाइन प्रारंभिक परीक्षा के द्वारा मुख्य परीक्षा के लिए आवश्यकताओं के आधार पर प्रत्येक श्रेणी में पर्याप्त संख्या में उम्मीदवारों को आईबीपीएस द्वारा शॉर्टलिस्ट किया जाता है।

दूसरा चरण: प्रारंभिक परीक्षा में सफल उम्मीदवार ऑनलाइन मुख्य परीक्षा में भाग लेकर साक्षात्कार के लिए पात्र होने के लिए  मुख्य परीक्षा में अनुभागीय और साथ ही कुल  कटऑफ के साथ उत्तीर्ण करना होगा।

तीसरा चरण: साक्षात्कार का होता है जिसे साक्षात्कार में भाग लेने वाले संगठनों द्वारा आयोजित किया जाएगा और आईबीपीएस की सहायता से प्रत्येक राज्य / केंद्र शासित प्रदेश में नोडल बैंक द्वारा समन्वित किया जाएगा।

अंतिम परिणाम:आईबीपीएस पीओ मेन्स और इंटरव्यू राउंड में सफल उम्मीदवारों के संयुक्त प्रदर्शन के आधार पर घोषित किया जाता है।

अंतिम आवंटन:योग्य उम्मीदवार का अंतिम आवंटन आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किया जाता है,आईबीपीएस, बैंकों को उम्मीदवारों की वरीयताओं के आधार पर आवंटित करता है जो ऑनलाइन आवेदन के समय किए जाते हैं।आईबीपीएस केवल विभिन्न बैंकों को अंतिम आवंटन तक चयन प्रक्रिया में अपनी भूमिका निभाता है। उसके बाद,योग्य उम्मीदवारों को उनके शामिल होने की तारीखों और प्रक्रियाओं के बारे में सूचित करने की जिम्मेदारी संबंधित बैंकों की होती है।

आईबीपीएस पीओ परीक्षा पैटर्न–

मित्रो अब थोड़ी बहुत तैयारी पर भी बात कर ली जाय क्यों कि फॉर्म तो भरना ही था जब सपने देखे है सरकारी नौकरी कि वो भी बैंंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर के रूप में ऐसे में बहुत मेहनत की जरूरत है तैयारी को लेकर तमाम लोग तमाम ज्ञान देते है बिना क्षमता पहचाने है जैसे लगता है कि हर उम्मीदवार की क्षमता और शैली एक जैसी है परन्तु ऐसा नहीं है हममे से सभी अलग है अतः तैयारी का रूप और मापदंड अलग अलग होगा।

मित्रो मेहनत ही सबसे जरुरी और अमूल्य उपकरण है तो क्यों न इसका इस्तेमाल सही तरीके से किया जाय,और उसकी पहली कड़ी है परीक्षा का पाठ्यक्रम उसे बारीकी से देखे और उसी के अनुरूप समग्रता से अपनी तैयारी की शुरुआत कर दे,उसके उपरांत पाठ्यक्रम में दिए गए टॉपिक की बेसिक स्तर से तैयारी फिर उसके उच्च स्तर के लिए मानक पुष्तकों का अध्ययन करें,शॉर्ट नोट्स बनाये,लगातार पुनर्भ्यास करें,टेस्ट सीरीज दे ऐसे ही प्रयोग आप सारे विषयों के साथ करें।परीक्षा के चरणों के अनुरूप आप अपनी स्ट्रैटेजी बनायें जैसे प्रारंभिक के लिए अलग और मैन्स के लिए अलग।

आईबीपीएस पीओ परीक्षा पाठ्यक्रम

1:संख्यात्मक योग्यता-सरलीकरण, संख्या श्रृंखला,अनुपात और समानुपात,प्रतिशत और औसत, लाभ और हानि, मिश्रण और प्रमाण,साधारण ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज, कार्य और समय, समय और दूरी, अनुक्रम और श्रृंखला, द्विघात समीकरण, क्रमपरिवर्तन और संयोजन।

2:रीजनिंग एबिलिटी-सीटिंग अरेंजमेंट, सिलोगिज्म, इनपुट-आउटपुट, कोडिंग-डिकोडिंग, अल्फ़ान्यूमेरिक सीरीज़, रैंकिंग / डायरेक्शन / अल्फाबेट टेस्ट, डेटा पर्याप्तता, पज़ल, लॉजिकल रीजनिंग.

3:इंग्लिश लैंग्वेज-रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन, रिक्त स्थान भरें, एरर स्पॉटिंग, सेंटेंस करेक्शन, पैरा जंबल्स

4:सामान्य जागरूकता-बैंकिंग और वित्तीय जागरूकता, करंट अफेयर्स। स्टेटिक जीके

5:कंप्यूटर ज्ञान- कंप्यूटर के बुनियादी सिद्धांत, कंप्यूटर का इतिहास, इंटरनेट,एमएस ऑफिस, इनपुट-आउटपुट डिवाइस, कंप्यूटर शॉर्टकट

  आईबीपीएस पीओ प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न

प्रारंभिक परीक्षा ऑनलाइन आयोजित होती है,प्रत्येक खण्ड के लिए आवंटित समय 1 घंटा और 20 मिनट का होता है जिसमे 3 खण्डों में कुल 100 प्रश्न हल करने होते है। इसमें नेगेटिव मार्किंग भी होती है जिसमे प्रत्येक गलत उत्तर के लिए। .25(1/4th ) काट लिए जाते है।मुख्या परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवारों को प्रत्येक खंड में पास (कटऑफ)होना आवश्यक है-

प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न
क्र.सं. टेस्ट का नाम प्रश्नों की संख्या अधिकतम अंक अवधि
1 अंग्रेजी भाषा 30 30 20   मिनट
2 संख्यात्मक क्षमता 35 35 20   मिनट
3 तर्क क्षमता 35 35 20   मिनट
कुल 100 100 60   मिनट

आईबीपीएस पीओ मेन्स परीक्षा पैटर्न:

मुख्य परीक्षा भी ऑनलाइन ही आयोजित की जाती है इसमें (4+1) 5 खंड होते है,तथा कुल अंक (200+25 )225 होते है जिसके लिए कुल निर्धारित समय (180+30)210 मिनट का होता है,इसमें एक पेपर वर्णात्मक होगा बाकि सभी वैकल्पिक प्रवृति के होंगे,उम्मीदवार को साक्षात्कार में पात्रता के लिए प्री और मैन्स दोनों परीक्षाओं को पास करना अति आवश्यक है।हर गलत उत्तर के लिए दंड स्वरुप .25(1/4th) अंक काट लिए जायेंगे।

मेन्स परीक्षा पैटर्न
क्र.सं. टेस्ट का नाम प्रश्नों की संख्या अधिकतम अंक अवधि
1 रीजनिंग और कंप्यूटर एप्टीट्यूड 45 60 60 मिनट
2 अंग्रेजी भाषा 35 40 40 मिनट
3 डेटा विश्लेषण और व्याख्या 30 60 45 मिनट
4 सामान्य अर्थव्यवस्था और बैंकिंग जागरूकता 40 40 35 मिनट
155 200 3 घंटे
5 अंग्रेजी भाषा (पत्र लेखन और निबंध) 2 25 30 मिनट

आईबीपीएस पीओ साक्षात्कार

मुख्य परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को  साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है जिसके लिए अधिकतम 100 अंक निर्धारित होते हैं। साक्षात्कार में न्यूनतम योग्यता सामान्य श्रेणी के लिए अंक 40% और (एससी / एसटी / ओबीसी / पीडब्ल्यूडी) उम्मीदवारों के लिए 35% है,कुल समय 15-20 का होता है।

साक्षत्कार के लिए बैंक के अधिकारियों का एक पैनल उम्मीदवारों से उनके बारे में, बैंकिंग क्षेत्र, करंट अफेयर्स,सामान्य जागरूकता आदि के बारे में सवाल पूछते  है। उम्मीदवारों को अच्छी तरह से तैयार करना चाहिए,तथा अपनेआत्मविश्वास को बनाये रखना चाहिए ताकि बुद्धि तत्परत के साथ प्रश्नो का समाधान निकला जा सके,साथ ही सभी आवश्यक दस्तावेजों को अपने साथ जरूर ले जाए। हो सके तो कुछ मॉक इंटरव्यू जरूर दे।

मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार में प्राप्त अंकों के आधार पर अंतिम मेरिट सूची तैयार की जाती है। आईबीपीएस द्वारा अंतिम स्कोर की गणना मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार में दिए गए अंकों के वेटेज के साथ क्रमशः 80:20 के अनुपात में की जाती है।

आईबीपीएस पीओ परीक्षा के लिए अंतिम स्कोर: गणना निम्नलिखित बिंदुओं को ध्यान में रखकर की जाती है:

  • प्रारंभिक परीक्षा में प्राप्त अंकों को अंतिम स्कोर में नहीं माना जाएगा यह केवल मुख्य परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए हैं।
  • अंतिम योग्यता में पात्रता के लिए उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार के लिए अलग-अलग अर्हता प्राप्त करनी होगी।
  • अंतिम योग्यता सूची के लिए आईबीपीएस पीओ मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार का वेटेज (अनुपात) क्रमशः 80:20 होगा।
  • प्रत्येक श्रेणी के लिए अंतिम योग्यता सूची के लिए 100 में से कुल अंक का उपयोग किया जाता है। प्रत्येक श्रेणी में शीर्ष योग्यता रैंक वाले उम्मीदवारों का अंतिम रूप से चयन किया जाता है।

आईबीपीएस पीओ कट ऑफ:

स्कोरकार्ड के साथ परीक्षा के प्रत्येक चरण के लिए कट-ऑफ जारी किया जाता है जैसे पिछले वर्ष के पीओ प्रारंभिक परीक्षा के लिए   कटऑफ निम्नवत था-

सामान्य श्रेणी लिए -58.75, ओबीसी के लिए-58.50,अनुसूचित जाति के लिए-51 और अनुसूचित जाति के लिए-43.5 इसी प्रकार हर वर्ष इसे श्रेणीवार जारी किया जाता है।

ऐसे ही मुख्य परीक्षा के लिए भी जारी की जाती है-

सामान्य श्रेणी लिए -83.5, ओबीसी के लिए-78.63,अनुसूचित जाति के लिए-66.38 और अनुसूचित जाति के लिए-52.25 व अन्य के लिए।

फाइनल कटऑफ-2020 में फाइनल कटऑफ था

सामान्य- निम्न-47.89,उच्च-62.98, अतिपिछड़ा वर्ग-निम्न-43.96,उच्च -55.82 और SC-निम्न-39.73 उच्च-52.20 तथा ST-निम्न-35.56 उच्च-52.11

विस्तृत विवरण के लिए आयोग द्वारा जारी अद्यतन सूचना का अवलोकन करे.

आईबीपीएस पीओ प्री-एग्जाम ट्रेनिंग-

आईबीपीएस केवल अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अल्पसंख्यक जाति के उम्मीदवारों के लिए परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण आयोजित करता है। आईबीपीएस पीओ साक्षात्कार और प्रोविजन पीरियड में,भारत के 61 शहरों में उम्मीदवार इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग ले सकते हैं।इस प्री-एग्जामिनेशन ट्रेनिंग के लिए किसी भी तरह के आवेदन फॉर्म को भरने की आवश्यकता नहीं होती है,उम्मीदवार के पास पूर्व परीक्षा प्रशिक्षण कॉल लेटर होना चाहिए।

यह कॉल लेटर आधिकारिक वेबसाइट से इस प्रशिक्षण कॉल लेटर को पाया जा सकता है। परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण नि: शुल्क है परन्तु यात्रा, भोजन और आवास जैसे अन्य खर्चों उम्मीदवार द्वारा वहन किए जाते है।यह आमतौर पर परीक्षा से पांच दिन पहले आयोजित किया जाता है और आधिकारिक वेबसाइट पर तारीखों की घोषणा की जाती है।

विशेष रूप से इस प्रशिक्षण का उद्देश्य कमजोर वर्गों के छात्रों को एक समान अवसर प्रदान करना है जो कोचिंग का लाभ नहीं उठा सकते हैंऔर उन्हें परीक्षा के सामान्य पहलुओं और भर्ती प्रक्रिया से अवगत कराना है।

आईबीपीएस पीओ के वेतन और भत्ते-

IBPS PO के लिए वेतन और भत्ते निर्धारित किये गए गए है जिन्हे उनके रैंक  कार्य अनुभवों के आधार पर दिया जाता है अभी इनका बेसिक पे 36000 है इस प्रकार एक आईबीपीएस प्रोबेशनरी ऑफिसर का प्रारंभिक इन-हैंड वेतन रु 52,000 से 55,000 तक महंगाई भत्ते, विशेष भत्ते, अन्य लाभ के साथ है।

  आईबीपीएस पीओ भर्ती में भाग लेने वाले बैंक-

अभी 2021 में देखे तो कुल 11 बैंक भाग ले रहे है इस भर्ती प्रक्रिया में, वैसे सारे बैंक एकसमान रिक्तियां,आरक्षण,कि निति का पालन नहीं करते आवश्यकतानुसार उनकी क्राइटेरिया होती है,इस बार भाग ले रहे बैंक है –

बैंक ऑफ़ बरोदा,बैंक ऑफ़ इंडिया,बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र,कैनरा बैंक,सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया,इंडियन बैंक,इंडियन ओवरसीज बैंक,पंजाब नेशनल बैंक,पंजाब एंड सिंध बैंक,यूको बैंक,यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया।

मित्रो आशा करता हु कि इस लेख से आपको मदद मिली होगी,मेरी कोशिश रही है अधिकतम सूचनाएं आपतक पहुँचायी जाएँ फिर भी आपको लगता है कि इसमें किसी सुधार या परिवर्तन कि जरुरत है तो आप हमें अपना बहुमूल्य सुझाव भेज सकते है–info@gkvidya.com और trygkvidya@gmail.com पर 


शेयर करें

Leave a Comment