प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण को 2024 तक बढ़ाया गया

शेयर करें

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण

चर्चा में क्यों है

हाल ही में केंद्रीय मंत्रिमंडल प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण(PMAY-G) को विस्तारित करने की स्वीकृति दी है।
प्रमुख तथ्य-:शेष 1.55 करोड़ मकानों के निर्माण हेतु 2.17 करोड़ को जल्द ही जारी कर दी जाएगी
:सभी के लिए आवास के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए बुनियादी सुविधाओं साथ पक्के घरों के निर्माण हेतु सहायता प्रदान की जाएगी।
क्या है प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण -इस योजना को 1 अप्रैल 2016 में लांच किया गया था,इसके माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में घर बनवाने और मरम्मत करवाने घर बनवाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।
इन घरो को महिला के नाम पर या संयुक्त रूप से पति पत्नी के बीच आवंटित किया जाता है।
इस योजना को पूर्व में इंदिरा आवास योजना के नाम से जाना जाता है इसे इसे राजीव गाँधी ने 1985 में आरम्भ किया गया था।
इसके माध्यम से गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगो के लिए घरों के निर्माण हेतु आर्थिक सहायता देना।
इस योजना को केंद्र और राज्य सरकारों के आपसी सहयोग से चलाया जाता है,जिसमे 60:40 के अनुपात में साझा किया जाता है।
इस योजना तहत सरकार बिजली की आपूर्ति और स्वच्छता जैसी सभी बुनियादी सुविधाओं से युक्त घरो का निर्माण करना है।
अब तक 55% घरों का निर्माण किया जा चूका है।
लाभार्थियों का चयन तीन चरणों के सत्यापन सामाजिक,आर्थिक जाति जनगणना 2011,ग्राम सभा और जीओ टैगिंग के माध्यम से किया जाता है।
इन घरों में पाइप से पीने का पानी,बिजली की आपूर्ति,एलपीजी कनेक्शन,जैसी विभिन्न सरकारी सुविधाएँ मुहैया करायी गयी है।


शेयर करें

Leave a Comment