पांच राज्यों के लिए विधान सभा चुनाओ की तारीखों की घोषणा

शेयर करें

पांच राज्यों के लिए विधान सभा चुनाव

सन्दर्भ-भारत निर्वाचन आयोग ने उत्तर प्रदेश,उत्तराखंड,गोवा,पंजाब और मणिपुर में विधानसभा चुनाओं के कार्यक्रमों की घोषणा कर दी।
प्रमुख तथ्य-:उत्तर प्रदेश में 403,उत्तराखंड में 70,पंजाब में 117,मणिपुर में 60 और गोवा में 40 सीटों पर चुनाव का आयोजन होगा।
:उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए 10 फ़रवरी से 7 मार्च तक सात चरणों में चुनाव का आयोजन होगा।
:पंजाब,उत्तराखंड और गोवा की विधानसभाओं के किए एक ही चरण में 14 फ़रवरी को मतदान होगा।
:मणिपुर विधानसभा के लिए 27 फ़रवरी और 3 मार्च को दो चरणों में मतदान होगा।
:इन सभी राज्यों के चुनाव के नतीजों के लिए मतों की गणना 10 मार्च को होगी।
:पांचो राज्यों में मतदान के लिए अतिरिक्त एक घंटे का समय बढ़ाया गया है।
:नोटिफिकेशन जारी होने की तारीख 14 जनवरी,नामांकन की अंतिम तारीख 21 जनवरी,नामांकन स्क्रूटिनी(जाँच) की अंतिम तारीख 24 जनवरी और :उम्मीदवारी वापस लेने की अंतिम तारीख 27 जनवरी।
:इन सभी राज्यों के लिए तारीखों के ऐलान के बाद आचार संहिता भी लागू हो जाएगी।
:कोरोना वायरस के बढ़ाते मामलों को देखते हुए 15 जनवरी तक किसी भी तरह के रोड शो,पदयात्रा,बाइक या साइकिल रैलियों और जुलूसों पर भी रोक लगा दी गई है।
:डोर टू डोर कैंपेन में अधिकतम पांच लोग ही शामिल होंगे।
:कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करते हुए ही रैलियों का आयोजन होगा इसमें शामिल लोगो के लिए मास्क और सैनिटाइज़र की व्यवस्था राजनीतिक दल ही करेंगे।
:मतगणना के बाद किसी तरह की विजय जूलूस की इजाजत नहीं है।
:विधानसभा चुनाव में उम्मीदवारों के लिए चुनावी खर्च की सीमा को 28 लाख से बढ़ाकर 40 लाख रुपये कर दिया गया है।
:राजनीतिक दल और उम्मीदवार अपना चुनाव प्रचार जितना संभव हो डिजिटल मोड में करें इसके लिए आयोग डिटेल गाइडलाइन्स जारी की जाएगी।
:किसी भी तरह के चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी सी विजिल ऐप पर दी है।
:कम वोटिंग प्रतिशत वाले बूथों पर जागरूकता अभियान चलाया जायेगा,साथ ही वोटरों को जागरूकता के लिए एक छोटी से सी वोटर गाइड उपलब्ध कराई जाएगी।


शेयर करें

Leave a Comment