डेली करेंट अफेयर्स 6 नवंबर 2021

शेयर करें

1-व्हिसल ब्लोअर पोर्टल लांच किया गया

चर्चा क्यों है-इंडियन रिन्यूएबल एनर्जी डेवलॅपमेंट एजेन्सी लिमिटेड(IREDA) ने सतर्कता जागरूकता सप्ताह 2021 के एक भाग के रूप में व्हिसल ब्लोअर पोर्टल को लांच किया गया।

:व्हिसल ब्लोअर-कोई भी व्यक्ति जो प्रमाण के साथ गलत प्रथाओं और अनैतिक कार्यो को उजागर करता है।
प्रमुख तथ्य-:भ्रष्टाचार के प्रति IREDA की जीरो टॉलरेंस नीति का एक हिंसा है यह पोर्टल।
:सतर्कता जागरूकता अभियान अभी हाल ही में 26 अक्टूबर से 2 नवंबर 2021 के बीच चलाया गया था। सतर्कर्ता आयोग द्वारा।
:इस साल का विषय या थीम था-स्वतंत्र भारत @75:सत्यनिष्ठा के साथ आत्मनिर्भरता।
:इस पोर्टल के माध्यम से IREDA के कर्मचारी धोखाधड़ी,भ्रष्टाचार,सत्ता के दुरूपयोग इत्यादि से जुडी समस्यों को उठा सकते है।
:इस मौके पर IREDA ने अपनी सतर्कता पत्रिका पहल के नए अंक का वोमोचन भी किया।
:इरेडा,नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के तहत सार्वजानिक उपक्रम है जिसकी स्थापना 11 मार्च 1987 को किया गया। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है।

:2020 में करप्शन परसेप्शन इंडेक्स में भारत 180 देशो की सूची में 86 वे स्थान पर है।

2-डैमन गैलगट को मिला बुकर पुरस्कार 2021

प्रमुख तथ्य-:दक्षिण अफ्रीका के डैमन गैलगेट को उनकी उपन्यास द प्रॉमिस के लिए दिया गया.
:इससे पहले भी इन्हे 2003 और 2010 भी नामित किया गया था
:1999 के बाद दक्षिण अफ्रीका से यह पुरस्कार जीतने वाले पहले विजेता है
:यह उपन्यास एक श्वेत अफ़्रीकी परिवार का चित्रण किया है जिसने अपने अश्वेत घरेलु सहायक को घर देने का वादा किया है
:इस उपन्यास को असमान्य कथा शैली जो नोबोकोवियन शुद्धता के साथ फ़ाल्कनेरियन उत्साह को संतुलित करती है,कि सराहना की गयी है।
बुकर पुरस्कार-:यह अंग्रेजी साहित्य का सबसे प्रसिद्द पुरस्कार है जो कि अंग्रेजी में लिखे/अनुवाद किये गए सबसे सर्वश्रेष्ठ उपन्यास को दिया जाता है और जिसका प्रकाशन यूनाइटेड किंगडम या आयरलैंड में किये जाता है।
:इसकी शुरुआत 1969 में हुई थी अंग्रेजी में प्रकाशित उपन्यासों को प्रोत्साहित करने के लिए।
:इस पुरस्कार के तहत 50 हजार पाउंड (लगभग 50 लाख INR) पुरस्कार राशि दी जाती है।
:पिछले वर्ष(2020) यह पुरस्कार स्कॉटलैंड के लेखक डगलस स्टुअर्ट को उनके प्रथम उपन्यास शुग्गी बैन के लिए दिया गया था जो की उनकी समलैंगिग जीवन के बारे में बताती है,इसे लिखने में इन्हे 10 वर्ष से ज्यादे का समय लगा और 32 बार अस्वीकार भी किया गया।

3-नेल्सन मंडेला नोबेल शांति पुरस्कार अकादमी सम्मान
चर्चा में क्या है-हाल ही में भारत के अजय शर्मा को उनके समाज में उत्कृष्ट योगदान के लिए नेल्सन मंडेला नोबेल शांति पुरस्कार ने सम्मानित किया है।
प्रमुख तथ्य – :अजय शर्मा द मोरल ग्रुप ऑफ़ कम्पनीज़ के प्रबंध निदेशक है।
:उन्हें रोजगार निर्माण,उद्यमी विकास,सामाजिक जिम्मेदारियाों के साथ आत्मनिर्भरता मिशन के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए यह सम्मान दिया गया।
:मोरल ग्रुप का नारा है-नैतिकता को जगाना है,भारत को बनाना है।
:यह कंपनी भेदभाव से परे है जहा धर्म,लिंग,जाति के आधार पर बिना फर्क किये बीना एकजुटता और सामान्य शिक्षा के तालमेल पर आधारित है।
:बहुत कम समय में कंपनी ने भारत,अमेरिका,सिंगापुर,और एस्टोनिआ में अपने व्यवसाय को फैलाया।
नेल्सन मंडेला नोबेल शांति पुरस्कार अकादमी-यह अकादमी समाज के विकास के लिए काम करती है और समाज के कल्याण के लिए काम करने वाले लोगो को बढ़ावा देती है।

4उन्मुक्त चन्द बीबीएल में खेलने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर बने
प्रमुख तथ्य- :बीबीएल के आने वाले संस्करण के लिए उन्होंने समझौता किया है।
:मेलबोर्न रेनेगेड्स की टीम से खेलेंगे,वैसे इन लीगों में खेलने के लिए भारतीय खिलाडी को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से सन्यास लेना पड़ता है।
:इन्होने कुछ समय पहले ही सन्यास लिया था और अभी संयुक्त राज्य अमेरिका में रहते हुवे वह की लीग में शामिल हुवे और प्लेयर ऑफ़ थे टूर्नामेंट का ख़िताब भी जीता।
:इनकी टीम सिलिकॉन वेल्ली स्ट्राइकर्स माइनर क्रिकेट की चैंपियन बानी है।
:इनकी कप्तानी में भारतीय अंडर-19 टीम ने 2012 में विश्व कप जीता था।

5-कामेंग नदी में मछलियां मृत पायी गयी

चर्चा में क्यों है – चीन की सीमा पर आये भूकंप के कारण भूस्खलन हुआ जिसका मलवा कामेंग नदी की मछलियों के बड़े पैमाने पर मौत का कारण बना।
प्रमुख तथ्य-:यह मुख्य रूप से जिला मुख्यालय सैप्पा के इलाके में पायी गयी।
:इसी प्रकार कि घटना 2017 में पूर्वी सियांग जिले में पासीघाट में भी देखने को मिला था जब सियांग नदी का पानी कला हो गया था
कामेंग नदी के बारे में –:यह अरुणाचल प्रदेश में पूर्वी कामेंग जिले में पूर्वोत्तर हिमालय के गोरी चेन पहाड़ के हिमनद से निकलती है।
:यह ब्रह्मपुत्र नदी की सहयक नदी है जो दाहिने किनारे से मिलती है।
:यह अरुणचल प्रदेश के पूर्वी तथा पश्चिमी कामेंग जिले के बीच सीमा बनती है।
:असम में तेजपुर में यह ब्रह्मपुत्र नदी में मिलने से पहले सोनितपुर जिले से होकर बहती है।
:यह दो खंडो में होकर बहती है पूर्व में डफला पहाड़ी और पश्चिम में अक्का पहाड़ी से।
:कामेंग नदी के पास ही काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और पाखुयी वन्यजीव अभ्यारण्य स्थित है।


शेयर करें

Leave a Comment