डेली करेंट अफेयर्स 4 नवंबर 2021

शेयर करें

1-राष्ट्रिय खेल पुरस्कार 2020 का वितरण

सन्दर्भ-खेल मंत्रालय ने 1 नवंबर 2021 को, 2020 खेल पुरस्कारों के विजेताओं को ट्रॉफियां प्रदान की,29 अगस्त 2020 को खेल मंत्रालय कुल 74 पुरस्कारों की घोषणा की जिनमे 27 अर्जुन पुरस्कार,5राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार(अब मेजर ध्यानचंद पुरस्कार) इत्यादि दिए गए।
अर्जुन पुरस्कार- दुती चंद (एथलेटिक्स), ईशांत शर्मा (क्रिकेट), दीप्ति शर्मा (क्रिकेट), दिव्या काकरान (कुश्ती),अतनु दास (तीरंदाजी),चिराग चंद्रशेखर शेट्टी (बैडमिंटन), विशेष भृगुवंशी(बास्केट बॉल ),अदिति अशोक(गोल्फ),सौरभ चौधरी(शूटिंग),मनीष नरवाल(पैरा शूटिंग) इत्यादि।
राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार-रोहित शर्मा(क्रिकेट),रानी रामपाल(हॉकी),मनिका बत्रा (टेबल टेनिस),विनेश फोगाट(कुश्ती),मरियप्पन टी(पैरा एथेलेटिक्स)
ध्यानचंद पुरस्कार-कुलदीप सिंह भुल्लर(एथेलटिक्स),मनप्रीत सिंह(कबड्डी),अजीत सिंह(हॉकी),प्रदीप गन्धे(बैडमिंटन),एन उषा (मुक्केबाज़ी),सचिन नाग(तैराकी),नंदन पाल(टेनिस) इत्यादि।
द्रोणाचार्य पुरस्कार(लाइफटाइम अचीवमेंट)–ओम प्रकाश दहिया(कुश्ती),रोमेश पठानिआ(हॉकी),शिव सिंह(मुक्केबाजी),स्वर्गीय पुषोत्तम राय(एथेलेटिक्स),धर्मेंद्र तिवारी(तीरंदाजी),विजय भालचंद्र मुनीश्वर(पैरा पावर लिफ्टिंग) इत्यादि।
द्रोणाचार्य पुरस्कार(रेगुलर कैटेगरी ) — जुड फ्लिक्स(हॉकी),जसपाल राणा(निशानेबाज़ी),गौरव खन्ना(पैरा बैडमिंटन),कुलदीप कुमार हन्डू(वुशु),योगेश मालवीय(मलखम्ब)।
राष्ट्रिय खेल पुरस्कार: यह पुरस्कार युवा और खेल मामलो के मंत्रालय द्वारा दिया जाता है जो 6 खेल पुरस्कार का सामूहिक नाम है और जिसे भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किया जाता है,पहला पुरस्कार 1956-57 में दिया गया था और अभी अंतिम 2020 का दिया गया है, यह पुरस्कार मेजर ध्यानचंद के जन्म दिवस  29 अगस्त को हर वर्ष वितरित किया जाता है।

2-राष्ट्री खेल रत्न पुरस्कार 2021 प्रदान किये जाएंगे

सन्दर्भ-युवा एवं खेल मामलो के मंत्रालय ने 2021 के लिए पुरस्कारों की घोषणा किया था,उसे 13 नवंबर 2021 को वितरित कर सम्मानित किये जायेंगे विजेता,इस बार टोक्यो ओलिंपिक में शानदार प्रदर्शन के आधार पर पुरष्कारों की घोषणा।
मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवार्ड-नीरज चोपड़ा (जेवेलीन थ्रो/एथेलिटिक्स),मनप्रीत सिंह (हॉकी).रवि कुमार (कुश्ती), लवलीना बोरगोहेन (मुक्केबाजी), पीआर श्रीजेश (हॉकी),अवनि लेखारा (पैरा शूटिंग),मनीष नरवाल (पैरा शूटिंग), सुमित अंतिल (पैरा एथलेटिक्स),प्रमोद भगत (पैरा बैडमिंटन), कृष्णा नागर (पैरा बैडमिंटन), मिताली राज (क्रिकेट),सुनील छेत्री (फुटबॉल).
अर्जुन पुरस्कार-अरपिंदर सिंह (एथलेटिक्स), वंदना कटारिया (हॉकी),दीपक पूनिया (कुश्ती),सिमरनजीत कौर (मुक्केबाजी), शिखर धवन (क्रिकेट), सीए भवानी देवी (तलवारबाजी), मोनिका (हॉकी), संदीप नरवाल (कबड्डी), हिमानी उत्तम परब (मल्लखंब), अभिषेक वर्मा (निशानेबाजी),अंकिता रैना (टेनिस), दिलप्रीत सिंह (हॉकी), हरमनप्रीत सिंह (हॉकी), रूपिंदर पाल सिंह (हॉकी), सुरेंद्र कुमार (हॉकी), अमित रोहिदास (हॉकी)), बीरेंद्र लाकड़ा (हॉकी), सुमित (हॉकी), नीलकांत शर्मा (हॉकी), हार्दिक सिंह (हॉकी), विवेक सागर प्रसाद (हॉकी), गुरजंत सिंह (हॉकी), मनदीप सिंह (हॉकी), शमशेर सिंह (हॉकी), ललित कुमार उपाध्याय (हॉकी), वरुण कुमार (हॉकी), सिमरनजीत सिंह (हॉकी), योगेश कथूनिया (पैरा एथलेटिक्स), निषाद कुमार (पैरा एथलेटिक्स), प्रवीण कुमार (पैरा एथलेटिक्स), सुहाश यतिराज (पैरा बैडमिंटन), सिंहराज अधाना (पैरा निशानेबाजी), भावना पटेल (पैरा टेबल टेनिस), हरविंदर सिंह (पैरा तीरंदाजी) और शरद कुमार (पैरा एथलेटिक्स)।
द्रोणाचार्य पुरस्कार(लाइफटाइम अचीवमेंट)-सरपाल सिंह(हॉकी),टी. पी.औसेफी(एथेलिटिक्स),सरकार तलवार(क्रिकेट),आशान कुमार(कबड्डी),तपन कुमार पाणिग्रही(स्विमिंग)।
द्रोणाचार्य पुरस्कार(रेगुलर कैटेगरी ) —प्रीतम सिवाच(हॉकी),संध्या गुरुंग(बॉक्सिंग),सुब्रमण्यम रमन(टेबल टेनिस),जय प्रकाश नौटियाल(पैरा शूटिंग ),राधाकृष्णन नायर (एथेलिटिक्स).
लाइफटाइम अचीमेंट्स के लिए ध्यानचंद पुरस्कार-सज्जन सिंह(रेसलिंग),विकास कुमार(कबड्डी),अभिजीत कुंते(शतरंज),लेख के सी (बॉक्सिंग),दविंदर सिंह गरचा(हॉकी)।
राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार-कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व(CSR) के माध्यम से खेलो को प्रोत्साहन देने के लिए इंडियन आयल कारपोरेशन और मानव रचना एजुकेशनल इंस्टिट्यूट(नवोदित एवं युवा प्रतिभा की पहचान और पोषण के लिए) को दिया गया।
मौलाना अबुल कलाम आज़ाद (माका) 2021 पुरस्कार-पंजाब विश्व विद्यालय,चंडीगढ़।

3-डीआरडीओ और भारतीय वायु सेना ने स्वदेशी स्मार्ट एंटी-एयरफील्ड हथियार का सफल उड़ान परीक्षण किया

प्रमुख तथ्य-:DRDO और भारतीय वायुसेना ने मिलकर स्वदेश में बने स्मार्ट एंटी एयरफील्ड हथियार का सफल उड़ान परिक्षण किया।
:इसके दो उड़ान परिक्षण किये गए सैटेलाइट नेविगेशन और इलेक्ट्रो ऑप्टिकल सेंसर के आधार पर।
:सटीक मारक क्षमता के लिए इमेजिंग इंफ्रारेड सीकर तकनीक का उपयोग किया गया है।
:इसका मारक रेंज 100 किलोमीटर है।
:इसे 28 अक्टूबर से 3 नवंबर 2021 तक राजस्थान के जैसलमेर के चन्दन पर्वतमाला से वायुसेना के विमान द्वारा लांच किया गया।
:देश में पहली बार इस लांग रेंज बेम को इलेक्ट्रो ऑप्टिकल सीकर आधारित उड़ान द्वारा परीक्षण किया गया है।
:सीकर तकनीक के होने से मारक क्षमता बढ़ जाती है, क्योकि इसमें इलेक्ट्रो ऑप्टिकल कॉन्फिग्रेशन इमेजिंग इंफ्रारेड(IIR) तकनीक का उपयोग किया गया है।

4-प्रधानमंत्री करेंगे श्री आदि शंकराचार्य की समाधि का उद्घाटन

चर्चा क्यों है- प्रधानमंत्री 5 नवंबर को केदारनाथ जायेंगे तथा श्री आदि शंकराचार्य कि समाधी का उद्घाटन करने के साथ ही उनकी प्रतिमा का अनावरण भी करेंगे।
प्रमुख तथ्य-:इसके अलावे प्रधानमंत्री सरस्वती रिटेनिंग वॉल आस्थापथ और मन्दाकिनी रिटेनिंग वॉल आस्थापथ,तीर्थ पुरोहित हाउस तथा मन्दाकिनी पर बने गरुड़ चट्टी पुल सहित प्रमुख बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे।
:इसके अतिरिक्त 180 करोड़ की लागत सड़ बनने वाली कई परियोजनाओं कि आधारशिला भी रखेंगे जैसे-संगम घाट का पुनर्विकास,प्राथमिक चिकित्सा एवं परिवतन सुवुधा केंद्र,मन्दाकिनी आस्थापथ कतार प्रबंधन,वर्षा आश्रय अस्थल,एवं सरस्वती नागरिक सुविधा भवन इत्यादि।
:केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने प्रसाद योजना के तहत केदारनाथ के एकीकृत विकास के अंतर्गत कई परियोजनाओं के कार्य पुरे किये है।
परियोजना की पूरी जानकारी के लिए क्लिक करे https://static.pib.gov.in/WriteReadData/specificdocs/documents/2021/nov/doc202111301.pdf

 

:प्रधानमंत्री द्वारा ध्यान गुफा में बिताये गए 17 घंटे आकर्षण का केंद्र बना अब इस प्राचीन गुफा को सरकार द्वारा पुनर्निर्माण परियोजना के तहत बनाया जा रहा है।

   :प्रसाद योजना क्या है-  इसे पर्यटन मंत्रालय द्वारा 2014-15 में  चिन्हित तीर्थ स्थलों के समग्र विकास के उद्देश्य से तीर्थयात्रा कायाकल्प और आध्यात्मिक संवर्धन पर राष्ट्रिय मिशन नाम से शुरू किया गया था, जिसका नया नाम 2017 में  बदलकर तीर्थयात्रा कायाकल्प और आध्यात्मिक विरासत संवर्धन अभियान (PRASAD) कर दिया गया, इसका क्रियान्वयन चिन्हित परियोजनाओं के आधार पर सम्बंधित राज्य या संघ राज्य क्षेत्र कि सरकार द्वारा चिन्हित एजेंसियों द्वारा।

 

 

5-QS एशिया रैंकिंग 2022 जारी किया गया

चर्चा क्यों है- :हाल ही में QS एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग जारी कि गयी।
प्रमुख तथ्य-:इसे क्वैक्वारेली द्वारा जारी किया जाता है,जो वैश्विक उच्च शिक्षा क्षेत्र के लिए सेवाओं,विश्लेषण और अंतर्दृष्टि प्रदान करने में अग्रणी संस्था है।
:इस साल भारत का सबसे टॉप इंस्टिट्यूट रहा IIT बॉम्बे 42वे स्थान के साथ हाला कि पिछले वर्ष इसकी रैंकिंग 37वी थी,इसने 100 में से 71 अंक(स्कोर) प्राप्त किये,
इसके बाद IIT -दिल्ली 45वा तथा IIT-मद्रास को 54 स्थान हासिल हुआ,IISc बेंगलुरु को 56वा,IIT-खड़गपुर को 60वा,और IIT-कानपुर को 64वा स्थान मिला।
:इस सूची में प्रथम स्थान पर सिंगापुर नेशनल यूनिवर्सिटी रही,इसके बाद चीन की पेकिंग यूनिवर्सिटी का स्थान रहा.
:दिल्ली विश्व विद्यालय भारत का एकमात्र केंद्रीय विश्व विद्यालय रहा जिसने 77वी रैंक के साथ 100 में स्थान बनाया।
:इस बार कि रैंकिंग में भारत कि 118 विश्वविद्यलयों ने जगह बनायीं।
:QS एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग,प्रति वर्ष एशिया के शीर्ष विश्व विद्यलयों कि रैंकिंग जारी करती है।
:यह रैंकिंग 11 संकेतकों पर आधारित होती है.जिनमे शामिल है अकादमिक प्रतिष्ठा,नियोक्ता प्रतिष्ठा,संकाय/छात्र अनुपात,अंतराष्ट्रीय अनुसन्धान नेटवर्क इत्यादि।

6-जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना

सन्दर्भ-दिल्ली सरकार द्वारा 2018 में लांच कि गयी इस योजना को विस्तारित कर अब OBC और EWS श्रेणी के छात्रों लिए भी खोल दिया गया,जबकि पहले यह सिर्फ SC और ST के लिए था।इस योजना के तहत इस वर्ष इसके तहत 15000 छात्रों ने कोचिंग के लिए नामांकन करवाया है।
क्या है यह योजना-यह दिल्ली सरकार द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर पृष्ठभूमि और वंचित समुदायों के बच्चों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुफ्त कोचिंग देने के उद्देश्य से 2018 में कुछ निजी केंद्रों पर लॉन्च किया गया था।इसके अंतर्गत सरकार द्वारा 2500 का वजीफा भी दिया जाता है।
इस योजना के तहत कौन शामिल होगा-इस योजना के अंतर्गत एससी,एसटी,ओबीसी और ईडब्ल्यूएस श्रेणियों के मेधावी छात्रों को निजी कोचिंग सेंटरों से प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुफ्त में कोचिंग दी जाती है,जिन परिवारों की वार्षिक आय 8 लाख रुपये से कम है उन परिवारों के छात्र इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
किन कोचिंग संस्थानों से मिलेगी सुविधा-इस योजना के तहत करीब 46 कोचिंग केंद्रों से मेधावी छात्र UPSC,मेडिकल,इंजीनियरिंग,एसएससी,बैंकिंग परीक्षाओं के साथ प्रबंधन स्कूल परीक्षा के सहित लॉ विश्विद्यालय में प्रवेश परीक्षा हेतु मुफ्त कोचिंग प्राप्त कर सकते है।


शेयर करें

Leave a Comment