डेली करेंट अफेयर्स 22 नवंबर 2021

शेयर करें

1-विंग्स इंडिया 2022 कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया

सन्दर्भ- हाल ही आयोजित विंग्स इंडिया 2022 का उद्घाटन केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया यह एक पूर्व भूमिका(कर्टेन रेजर) प्रोग्राम था इस कार्क्रम के आयोजन के लिए मंत्री ने AAI और FICCI के सहयोग की प्रशंसा भी किये।
प्रमुख तथ्य-इस कार्यक्रम को हैदराबाद के बेगमपेट में 24-27 मार्च 2022 को आयोजिय किया जायेगा,और जिसका थीम होगा-“India@75:New Horizon for Aviation Industry” (विमानन उद्योग के लिए नया क्षितिज)
: उड्डयन उद्योग भारत के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते आ रहा है क्योकि यह व्यापार और पर्यटन को देश विदेश से जोड़कर अनेक नए अवसर प्रदान करता है।
: वर्तमान में भारतीय उड्डयन उद्योग विश्व में तीसरे स्थान पर है अमेरिका और चीन के बाद जो इतने बड़े घरेलु यातायात को संभाल रहा है।
इस आयोजन का उद्देश्य क्या है-विमानन बाजार के प्रमुख हितधारकों,अंतर्राष्ट्रीय नियामकों,राज्य सरकारों,एयरलाइन समूहों को साथ विमानन कंपनियों,हवाईअड्डा संचालकों,कार्गो संचालकों को एक मंच प्रदान करना।

2-भारत की पहली लीगो(LIGO) परियोजना शुरू होगी महाराष्ट्र में

PAHAKA LIGO PARIYOJNA SHURU HOGI MAHARASHTRA ME
LIGO PARIYOJNA

चर्चा क्यों है- 17 नवंबर 2021 को महाराष्ट्र के हिंगोली राजस्व विभाग ने औंधा नागनाथ शहर के दुधला क्षेत्र में 225 हेक्टेयर जमीन LIGO परियोजना के लिए आवंटित किया है।
प्रमुख तथ्य- :यह भारत की पहली (LIGO) लेज़र इंटरफेरोमीटर ग्रेविटेशनल वेव ऑब्जर्वेटरी परियोजना है। जो भारत सरकार द्वारा 2016 में LIGO परियोजना को पूर्व नियमो(इन प्रिसेप्ट) के तहत मंजूरी दी गयी थी।
: ऐसी प्रयोगशालाएं भारत के अलावा अमेरिका में वाशिंगटन के हैनफोर्ड और लुइसियाना के लिविंग्स्टन में स्थित है जो गुरुत्वीय तरंगो की जाँच करती है।
: LIGO प्रोजेक्ट का प्रस्ताव भारत सरकार के परमाणु ऊर्जा विभाग तथा विज्ञानं एवं प्रौद्यौगिकी द्वारा राष्ट्रीय विज्ञानं फाउंडेशन,अमेरिका के साथ एक समझौता ज्ञापन के तहत शुरू करने के लिए लाया गया।
: भारत में इस परियोजना के समन्वयक और क्रियान्वयन करेंगे
A- IUCAA पुणे-इंटर यूनिवर्सिटी सेण्टर फॉर एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स।
B-IPR,गांधीनगर –इंस्टिट्यूट फॉर प्लाज़्मा रिसर्च।
C-RRCAT,इंदौर -राजा रमन्ना सेण्टर फॉर एडवांस्ड टेक्नोलॉजी।
D-DCSEM,मुंबई -डिपार्टमेन्ट ऑफ़ एटॉमिक एनर्जी डायरेक्टरेट ऑफ़ कंस्ट्रक्शन,सर्विसेज एंड एस्टेट मैनेजमेंट।
LIGO के बारे में-यह भौतिकी से सम्बन्धीत एक वैज्ञानिक प्रयोग वेधशाला है जिसके माध्यम से ब्रह्मांडीय गुरुत्वाकर्षण तरंगो का पता लगाया जाता है।जो अपने अध्ययन में गुरुत्वाकर्षण तरंग प्रेक्षणों का प्रयोग करते है।

3-विश्व शौचालय दिवस मनाया गया 

विश्व शौचालय दिवस
विश्व शौचालय दिवस

सन्दर्भ-हर वर्ष की तरह इसा वर्ष भी 19 नवंबर को विश्व शौचालय दिवस मनाया गया।
थीम क्या है-Valuing Toilets
2020 की थीम-स्वच्छता और जलवायु परिवर्तन।
उद्देश्य –इस दिवस का उद्देश्य है स्वच्छता के महत्व के बारे में लोगो को परिचित कराना है और खुले में शौच की प्रथा को रोकना है।
जरुरी क्यों है-जब लोगों के पास सुरक्षित शौचालय नहीं होते हैं तो सभी के स्वास्थ्य को खतरा होता है यह खतरा पीने के पानी से लेकर खाद्य फसलो तक को दूषित कर घातक बीमारियों का कारण बनता है।
इस दिवस का इतिहास- विश्व शौचालय दिवस की पहली बार पहल सिंगापूर के जैक सिम द्वारा एक एनजीओ विश्व शौचालय संगठन की स्थापना द्वारा की गई थी।

:2010 में एचडब्ल्यूएफ ने जल और स्वच्छता के मानव को एक मौलिक अधिकार के रूप में मान्यता दी।
:2013 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 19 नवंबर को विश्व शौचालय दिवस के रूप में नामित कर दिया।
: पुनः 24 जुलाई 2013 को “सबके लिए स्वच्छता” नामक शीर्षक से इस दिवस को घोषित करने का संकल्प लिया गया।
लक्ष्य क्या है- 3.6 बिलियन लोग जो अब तक शौचालय से वंचित है उन लोगों में जागरूकता बढ़ाना। इसके लिए सरकारों को भी 4 गुना तेजी से अपने कार्यो को बढ़ा कर 2030 तक सभी के लिए शौचालयों की व्यवस्था करना।

क्लिक करें

4-2025 तक यमुना की सफाई कर देगी दिल्ली सरकार 

चर्चा क्यों है- दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविन्द केजरीवाल ने 2025 तक यमुना नदी की सफाई का लक्ष्य रखा है इसके लिए इन्होने छः सूत्रीय कार्य योजना की घोषणा की है।

प्रमुख तथ्य-:इसे फ़रवरी 2025 तक नहाने योग्य बना दिया जायेगा,इसके लिए छः एक्शन पॉइंट है –
:नए सीवर ट्रीटमेंट प्लांट बनाये जायेंगे।
:मौजूदा प्लांटों की क्षमता भी बढ़ायी जाएगी।
:पुराने ट्रीटमेंट प्लांटों की तकनीक में बदलाव किया जायेगा।
:झुग्गीयों से निकलने वाले कचड़े को नदियों में मिलने से बचाकर उसे सीवर में मिला दिया जायेगा।
:कुछ क्षेत्रों में सीवर कनेक्शन न लेने वाले लोगो को मामूली शुल्क पर सीवर कनेक्शन देना।
:गाद निकालने का काम भी लिया जायेगा।
:इसके लिए कुछ नालों का इन सीटू सफाई किया जायेगा तथा कुछ को एसटीपी की तरफ मोड़ दिया जायेगा।
:जिन्होंने कनेक्शन नहीं लिया है उनको बहुत काम शुल्क पर कनेक्शन दिया जायेगा जिसकी वसूली किश्तों में बिजली बिल के साथ की जाएगी।
:यमुना नदी इस समय भारत की सबसे प्रदूषित नदियों में से एक है,जिसका प्रमुख कारन है औद्योगिक कचरा और नदियों के किनारे बसे झुग्गी झोपड़ियों से निकलने वाले सीवेज।

5-ओडिसा ने 5T स्कूल परिवर्तन कार्यक्रम के तहत पुनर्विकसित स्कूलों का उद्घाटन किया

सन्दर्भ- ओडिसा के मुख्यमंत्री नविन पटनायक ने 5T स्कूल परिवर्तन कार्यक्रम के तहत 148 पुनर्निर्मित विद्यालयों का उद्घाटन किया
उद्देश्य- इस योजना के माध्यम से बच्चों को बड़े सपने देखने और आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ने में सहायता करना।
प्रमुख तथ्य-:ये विद्यालय 5 जिलों में बनाये है पुरी,केंद्रपाड़ा,देवगढ़,जगतसिंहपुर,बलांगीर

:इसके साथ,राज्य में अब तक 5T स्कूल परिवर्तन कार्यक्रम के तहत 330 स्कूलों को बदल दिया गया है।
:पहले चरण में कार्यक्रम के तहत कुल 1075 हाई स्कूलों का पुनर्विकसित किया जाएगा।
:सरकारी विद्यालयों के बच्चो के लिए राज्य के इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में 15% सीटें आरक्षित किया गया है।
:इस योजना का लक्ष्य है बच्चों को शिक्षा के अलावा अन्य क्षेत्रों जैसे म्यूजिक,स्पोर्ट्स,प्रौद्योगिकी इत्यादि में भी कुशल बनाना। 


शेयर करें

Leave a Comment